अजीत जोगी की गैरमौजूदगी से गुटबाजी फिर उजागर

Tatpar 23/12/2013

छत्तीसगढ़ कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने रविवार शाम पदभार ग्रहण कर लिया। इस समारोह में भले ही पार्टी के कई बड़े नेता शामिल रहे हों लेकिन छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने इस कार्यक्रम का बायकॉट कर दिया।

कार्यक्रम में पार्टी के बड़े नेता चरणदास महंत, सत्य नारायण शर्मा और रवींद्र चौबे मौजूद रहे जबकि अजीत जोगी, उनकी पत्नी और बेटे अमित इस पार्टी से नदारद रहे।

हालांकि भूपेश बघेल ने अजीत जोगी की गैरमौजूदगी को नजरअंदाज करते हुए कहा कि वो कहीं और व्यस्त रहे होंगे। ऐसा माना जा रहा है कि अजीत जोगी और उनका परिवार इस बदलाव के लिए तैयार नहीं था।

संयोग से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने शनिवार को ही यह कहा था कि वे लोकसभा का चुनाव नहीं लडे़गे। उनके इस बयान को छत्तीसगढ़ में ताजा राजनीतिक उलटफेर से जोड़कर देखा जा रहा है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में भूपेश बघेल की नियुक्ति के फौरन बाद आए अजीत जोगी के बयान से राज्य की कांग्रेसी राजनीति में हलचल मच गई है।

इससे पहले अजीत जोगी को लोकसभा चुनाव के लिए प्रबल उम्मीदवार माना जा रहा था। ऐसी संभावना व्यक्त की जा रही थी कि वे महासमुंद या बिलासपुर से प्रत्याशी हो सकते हैं।