अफजल को ‘गुरु साहब’ कहने पर विधानसभा में घमासान

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर विधानसभा में अफज़ल गुरु के मुद्दे पर आज भी जमकर बवाल हुआ। विधायकों ने टेबलों पर चढ़कर विरोध जताया। मंत्री मीर सैफऊल्लाह की ओर से एक जबाव में अफजल गुरु को गुरु साहब कहने पर हंगामा मच गया। बीजेपी और पैंथर पार्टी के विधायकों ने इसका जमकर विरोध किया।

पीडीपी और निर्दलीय विधायक टेबल पर चढ़ गए। पहले ये विधायक वेल में पहुंचे। इन्होंने कश्मीर में प्रदर्शनकारियों पर मिर्ची पाउडर फेंकने और अफजल गुरू की फांसी का विरोध किया। निर्दलीय विधायक रशीद इंजीनियर ने तो माइक तक तोड़ दिया। इनकी मार्शलों से भी धक्का-मुक्की हुई। इसके चलते स्पीकर को दो बार हाऊस को 20 -20 मिनट के लिए स्थागित करना पड़ा।

बीजेपी और पैंथर पार्टी ने पीडीपी का विरोध करते हुए कहा कि अफजल गुरु के मुद्दे को लेकर विधानसभा को गुमराह कर रही है और उसका काम बाधित कर रही है। बीजेपी और पैंथर पार्टी ने पीडीपी से अफज़ल गुरु पर सियासत बंद करने को कहा।

वहीं पीडीपी की नेता महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि अफज़ल गुरु पर राज्य के हालात बहुत ख़राब हैं। रोजाना बंद रहता है। सारा सीज़न ख़राब हो रहा है, टूरिस्म बर्बाद हो रहा है। जम्मू कश्मीर सरकार को केंद्र सरकार के साथ बैठकर कुछ फैसला करना चाहिए कि कैसे जम्मू कश्मीर के लोगों को इससे बाहर निकाला जाए।

एक ही तरीका था कि अफज़ल गुरु की दस्त ए खाकी कम से कम उसके घर वालों को दे दी जाती। जब वो अफज़ल गुरु को फांसी दे रहे थे, तब उन्होनें सोचा तक नहीं था कि कश्मीर बीस से तीस साल पीछे चला जाएगा। अब बॉडी के नाम पर कह रहे हैं कि हालात ख़राब हो जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *