अफसरों ने पहुंचाया राज्य को 11 हजार करोड़ का नुकसान

रायपुर। विधानसभा में गुरुवार को विपक्ष ने सिंचाई विभाग के अफसरों पर आरोप लगाया कि उनकी उद्योगपतियों से मिलीभगत की वजह से सरकार को 11 हजार करोड़ रुपए राजस्व की हानि हुई है। उन्होंने मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव ग्राह्य कर चर्चा कराने की मांग को लेकर शोर-शराबा किया। स्पीकर धरमलाल कौशिक ने काम रोको प्रस्ताव ठुकरा दिया तो कांग्रेस विधायकों ने सदन से बहिर्गमन कर दिया।

शून्यकाल में मोहम्मद अकबर ने यह मामला उठाया। नेता प्रतिपक्ष रविंद्र चौबे, डॉ. हरिदास भारद्वाज, नंदकुमार पटेल, ताम्रध्वज साहू ने भी अपनी बातें सदन में रखीं।

कांग्रेस विधायकों ने आरोप लगाया कि प्रदेश में राजनीतिक प्रभाव वाले उद्योगपतियों द्वारा अधिकारियों से मिलीभगत करके सरकार को खरबों रुपए की राष्ट्रीय क्षति पहुंचाई जा रही है। स्वास्तिक स्पंज एंड पावर लिमिटेड ग्राम कनबेरी खैरभावना में स्थापित है।