अमर्त्य सेन जैसे बुद्धिजीवियों ने समाज को हमेशा गुमराह किया: बीजेपी

कोलकाता: बीजेपी ने रविवार को अमर्त्य सेन पर निशाना साधते हुए उनकी तुलना उन लोगों से की जिन्होंने हमेशा समाज को गुमराह किया. नोबेल पुरस्कार विजेता सेन ने 2019 लोकसभा चुनावों के लिए बीजेपी विरोधी गैर सांप्रदायिक ताकतों के एकजुट होने का आह्वान किया था. बीजेपी की तरफ से यह बयान अमर्त्य सेन के बयान के बाद आया है.

पश्चिम बंगाल प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘हमेशा वाम विचारधारा का अनुसरण करने वाले सेन जैसे बुद्धिजीवी वास्तविकता से दूर हो रहे हैं. सेन ने कहा था कि माकपा गायब हो रही है. इससे ज्यादा सच कुछ भी नहीं हो सकता, इस तथ्य से ज्यादा सच कुछ नहीं हो सकता कि सेन जैसे मार्क्सवादी लोगों का वर्तमान समय में ज्यादा महत्व नहीं है.’वर्ष 2019 लोकसभा चुनावों में बीजेपी को हराने के सेन के आह्वान पर बीजेपी नेता ने कहा कि उनके जैसे लोग हमेशा समाज को गलत दिशा में ले गये हैं.

इससे पहले अमर्त्य सेन ने कहा था कि 2019 के लोकसभा के चुनाव में सभी पार्टियों को एक साथ आना चाहिए. उन्होंने कहा कि कहा कि वाम दलों को भी साथ में आने से नहीं हिचकना चाहिए क्योंकि लोकतंत्र खतरे में है. उन्होंने आगे कहा कि 2014 में बीजेपी को मात्र 31 फीसदी मत मिले थे. बीजेपी गलत इरादों के बदौलत सत्ता में आई पार्टी है.

इससे पहले अमर्त्य सेन ने कहा है कि भारत ने सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था होने के बावजूद 2014 से ‘गलत दिशा में लम्बी छलांग’ लगाई है. उन्होंने कहा कि पीछे जाने के कारण देश इस क्षेत्र में दूसरा सबसे खराब देश है. सेन ने कहा , ‘‘चीजें बहुत बुरी तरह खराब हुई हैं. 2014 से इसने गलत दिशा में छलांग लगाई है. हम तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था में पीछे की तरफ जा रहे.