अमीरों को मिलने वाली फैसिलिटी आम लोगों को भी मिलना चाहिए

शिमला.नरेंद्र मोदी गुरुवार को हिमाचल प्रदेश पहुंचे। यहां उन्होंने उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक) स्‍कीम को लॉन्‍च किया। इसके बाद उन्होंने एक सभा में भी स्पीच दी। उन्होंने कहा कि ये देवभूमि भी है, वीर माताओं की भूमि है। मैं इन वीर माताओं को प्रणाम करता हूं। यहां टूरिज्म की बड़ी संभावना है। लोगों को आने-जाने की सुविधा मिल जाए, इसके लिए सरकार ने विशेष फोकस किया हुआ है। एक रेल प्रोजेक्ट 30 साल से अटका था, मैंने निकाला। अमीरी को मिलने वाली फैसिलिटी आम लोगों को भी मिलनी चाहिए।
स्पीच की अहम बातें…
– मोदी ने कहा- “जब मैं यहां काम करता था और शाम को लौटकर आकर इंडियन कॉफी हाउस में आकर बैठता था। पत्रकारों को मेरा कार्यक्रम पता रहता था। वे मुझसे पहले पहुंच जाते थे। मुझे कॉफी हाउस में कभी पेमेंट नहीं करनी पड़ी। ये पेमेंट मेरे पत्रकार मित्र किया करते थे। उनसे मेरा दोस्ताना नाता था। आज मॉल रोड पर जब कॉफी हाउस देखा तो पुराने साथी याद आ गए। बाद में जिम्मेदारियां बढ़ने से हिमाचल आना कम हो गया। आज आपने बुलाया और हम चले आए।
– “आज दो प्रोग्राम्स में आने का सौभाग्य मिला। हिमाचल में टूरिज्म की संभावनाएं बहुत हैं, स्काई द लिमिट हैं। लोगों को आने-जाने की सुविधा मिल जाए, इसके लिए सरकार ने विशेष फोकस किया हुआ है। एक रेल प्रोजेक्ट 30 साल से अटका था, मैंने निकाला।”
मध्यम वर्ग में बहुत ताकत है?
– मोदी ने कहा-“भारत में दो शक्तियां हैं- मध्यम वर्ग के लोग और मध्यम श्रेणी के नगर। यहां से बहुत ताकत आने वाली है।”
– “अब फ्यूचर को देखते हुए एयर कनेक्टिविटी की दिशा तय की जा रही है। अगर हम टैक्सी किराए पर लेते हैं तो एक किमी का 10 रुपए लग जाता है। पहाड़ पर ये किराया और ज्यादा हो जाता है। हम एक ऐसी नीति लाए हैं, जिसमें मध्यम वर्ग का आदमी भी हवाई यात्रा कर सकता है। वो एक घंटे में अपनी जगह पहुंच जाएगा।”
– “हवाई चप्पल पहनने वाला आदमी मुझे हवाई जहाज में दिखना चाहिए, ये मेरा सपना है। हिमाचल में बर्फ गिरती थी तो हम गुजरात में ऊनी कपड़े निकाल लेते थे। अब हिमाचल में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और दिल्ली से ताजा-ताजा हवा आ रही है।”
– “हम यही संकल्प लेकर काम कर रहे हैं कि ईमानदारों को काम मिले। हिमाचल में भी हमें ईमानदारी के युग का इंतजार है।”
– सीएम वीरभद्र सिंह की ओर इशारा करते हुए कहा, “शायद ही हिंदुस्तान के किसी सीएम को अपना वक्त वकीलों के बीच बिताना पड़ता है। आप लोग समझ गए होगे।”
गरीबी क्या होती है, ये अनुभव करके आया हूं
– मोदी बोले, “गरीबी क्या होती है, ये अनुभव करके आया हूं। मेरी ये सरकार गरीबों को समर्पित है। जिन-जिन लोगों ने गरीबों को लूटा है, उन्हें लौटाना ही होगा। आज देश ईमानदारी को मदद करना चाहता है। भारत ने तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था की पहचान बनाई है। देश को अगर बेरोजगारी से मुक्ति पानी है तो विकास करना ही होगा। हम चाहते हैं कि देश विकास की नई ऊंचाइयों को पार करे।”
बच्चों के लिए पढ़ाई, नौजवानों के लिए नौकरी
– मोदी ने कहा “हम चाहते हैं कि बच्चों के लिए पढ़ाई, नौजवानों के लिए नौकरी, बुजुर्गों के लिए दवाई की व्यवस्था हो। मैं जो कुछ कर रहा हूं, उसमें सब लोग तो खुश होने वाले नहीं है। जिनके काले धन पर चोट लगी, वो मुझे परेशान करने का कोई मौका नहीं छोड़ेंगे। लेकिन देशवासियों की भलाई के लिए जो करना पड़ेगा, करूंगा।”
उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक) स्‍कीम को लॉन्‍च किया
– मोदी ने कहा, “पूरी दुनिया में हवाई सफर सेक्टर में सबसे ज्यादा स्कोप भारत में है। पहले ये इमेज थी कि ये राजा-महाराजाओं के लिए हैं। हमारी एयरलाइन्स का लोगो भी महाराजा का है। जब अटलजी की सरकार थी- मैंने पूछा था कि क्या ये लोगो नहीं बदल सकते हैं। तब एक कॉमन मैन की इमेज वाला लोगो बनाया गया। हमें इस राजा-महाराजाओं की सोच बदलना है।”
– “देश में आज कोई एविएशन पॉलिसी नहीं है। एक पॉलिसी बनाएं और सभी कंपनियों को इसमें कसें। मुझे खुशी है कि हमारी सरकार ने इसे बनाने का फैसला किया है।”
– “मैं चाहता हूं कि हवाई जहाज में हवाई चप्पल वाले लोग दिखाई दें। आज से शिमला-दिल्ली, हैदराबाद-कड़प्पा और नांदेड-हैदराबाद से जुड़ने का मौका मिलेगा। दिल्ली-शिमला का सफर ज्यादा से ज्यादा एक घंटे में होगा।”
– “दूसरे विश्व युद्ध में कई हवाई पट्टियां बनीं, लेकिन उनका कोई इस्तेमाल नहीं हुआ। आजादी के बाद आज सिर्फ 70-75 एयरपोर्ट ही हैं, जो कमर्शियल एक्टिविटी के लिए इस्तेमाल हो रहे हैं। करीब नए 70 एयरपोर्ट शुरू होंगे। टायर-2 के शहरों को एयर कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *