अमेठी: बहुत जीते युवराज, अब नौकर जीतेगा: कुमार विश्वास

Tatpar 13 Jan 2014

विरोध और हंगामे के बीच आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने रविवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी के गढ़ अमेठी में चुनावी ताल ठोंकी। कांग्रेस के खिलाफ जोरदार हमला बोलते विश्वास ने कहा कि वह वंशवाद की राजनीति को खत्म करने आए हैं। पारिवारिक सामंतवाद के खात्मे की शुरुआत अमेठी से ही होगी। कुमार ने भाषण के दौरान राहुल गांधी को निशाने पर रखा, परिवारवाद के लिए सपा को भी आड़े हाथों लिया।

रैली स्थल पर भाषण के बीच विरोध और हंगामा कर रहे लोगों को जवाब देते हुए विश्वास ने कहा कि मैं अमेठी से जाने के लिए नहीं आया हूं। चुनाव में जानी की बाज लगा दूंगा। अब यहां से जीतकर ही दिल्ली जाना है।

राहुल पर किया कटाक्ष

अमेठी के रामलीला मैदान में जनविश्वास रैली में उमड़ी भीड़ से गदगद कुमार विश्वास ने राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अमेठी से युवराज, राजा, महारानी बहुत जीते हैं, अब नौकर जीतेगा। उन्होंने राहुल पर अमेठी के मुद्दों को संसद में नहीं उठाने का भी आरोप लगाया। खुद के विरोध पर विश्वास बोले, राहुल गांधी के लोग हमें अमेठी से डराकर नहीं भगा सकते। यह लड़ाई आम आदमी और राजकुमार की है।

राहुल के दलितों के घर खाना खाने पर भी उन्होंने यह कहकर चुटकी ली कि सांसद का काम दलितों के घर रात दो बजे जाकर खाना खाने का नहीं होता। उसका काम यह होता है कि जब वह घर पर बैठकर खाना खाए तो सोचे कि सभी दलितों ने खाना खाया या नहीं। अमेठी की जनता से कुमार ने कहा कि अगर इस बार यह विश्वास लौट गया तो आने वाले 67 सालों में भी कोई विश्वास अमेठी नहीं आएगा। विश्वास ने भाषण में सोनिया गांधी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें भारत के डॉक्टरों पर भरोसा नहीं है, इलाज के लिए हर साल विदेश जाती हैं।

परिवारवाद उखाड़ फेंकने का आह्वान

आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने कांग्रेस से लेकर सपा तक के परिवारवाद पर हमला बोलते हुए कहा कि गांधी-नेहरूपरिवार चाचा नेहरू से लेकर राहुल तक और सपा मुलायम से लेकर अखिलेश तक परिवारवाद को ही आगे बढ़ा रही। देश के तमाम प्रमुख राजनीतिक दलों को परिवारवाद की पार्टियां बताते हुए उनके नाम गिनाए।

पत्रकार से राजनेता बने आशुतोष ने भी अमेठी से परिवारवाद को उखाड़ फेंकने की बात कही। उन्होंने कहा कि यह देश की आजादी की दूसरी लड़ाई है। जो इसका साक्षी नहीं बनेगा इतिहास उसे कभी माफ नहीं करेगा।