अमेरिका में कॉलेज में फायरिंग: 13 की मौत, हमलावर ने मजहब पूछ कर मारी गोलियां

ऑरेगन: अमेरिका के ऑरेगन स्टेट स्थित उम्पक्वा कम्युनिटी कॉलेज में गुरुवार को एक बंदूकधारी ने गोलियां बरसाकर 13 स्टूडेंट्स को मार डाला। 19 अन्य लोग घायल हो गए। पुलिस की फायरिंग में शूटर भी मारा गया। वह इसी कॉलेज में पढ़ने वाला स्टूडेंट था। मीडिया रिपोर्ट्स में चश्मदीदों के हवाले से बताया गया कि बंदूकधारी ने पहले पीड़ितों को जमीन पर लेटने को कहा। उसके बाद उन्हें खड़ा होकर उनका मजहब बताने को कहा और गोली मार दी। अधिकारियों ने वारदात का इंटरनेशनल लिंक होने से फिलहाल इनकार कर दिया है।
गोलीबारी करने वाले शख्स की पहचान क्रिस हार्पर मर्सर (26) के तौर पर हुई है। उसके पास से चार बंदूकें बरामद की गई हैं। इनमें तीन पिस्टल और एक राइफल है। द न्यूयॉर्क टाइम्स ने सूत्रों के हवाले से बताया कि हमलावर एक एंग्री यंग मैन था, जिसके अंदर काफी नफरत भरी हुई थी। कोर्टनी मूर नाम की स्टूडेंट ने बताया कि वह अपने क्लास में बैठी हुई थी कि तभी खिड़की से एक गोली आकर उसके टीचर के सिर में लगी। इसके बाद, शूटर कमरे में घुस आया और अपने साथी स्टूडेंट्स का धर्म पूछने लगा। मूर के मुताबिक, उसके आसपास मौजूद साथियों को हार्पर ने गोली मार दी, लेकिन वो किसी तरह बच गई। घटना के बाद प्रेसिडेंट ओबामा ने देश को संबोधित किया। उन्होंने अमेरिका में हथियारों को लेकर कानूनों में बदलाव की बात कही है।