आजम के बयान पर BJP ने कहा- सबूत पेश करें या अखिलेश दें माफीनामा

लखनऊ. आजम खान के मोदी पर दिए गए बयान के लिए बीजेपी ने सीएम से सफाई मांगी है। पार्टी का कहना है कि आजम या तो मोदी-दाऊद के मीटिंग का सबूत पेश करें या फिर अखिलेश यादव माफीनामा दें। बीजेपी के नेशनल सेक्रेटरी श्रीकांत शर्मा ने कहा कि अखिलेश सरकार के इशारे पर ही आजम ने पीएम और दाऊद इब्राहिम के मुलाकात का आपत्तिजनक बयान दिया है।
बयानबाजी से नाकामी छिपाने की कोशिश
 – श्रीकांत ने कहा कि सच्चाई यह है कि राज्य बेहाल है, अर्थव्यस्था खस्ताहाल है, अपराध चरम पर है, पुलिस भी नाकाम और असमर्थ है।
– यूपी क्राइम कंट्रोल ब्यूरो की रिपोर्ट बताती है कि राज्य में रोजाना औसतन 10 रेप की घटनाएं हो रही हैं। दूसरी ओर सैफई में नेता नाच-गाने में मशगूल होते हैं। -अब चुनाव सिर पर है, तो सपा सरकार की इस नाकामी को छिपाने के लिए बयानबाजी हो रही है।
आजम ने क्या दिया था बयान?
 6 फरवरी को आजम ने गाजीपुर में कहा था, ‘पाकि‍स्‍तान दौरे पर पीएम ने देश के मोस्‍ट वॉन्टेड अपराधी दाऊद इब्राहि‍म से मुलाकात की थी। बादशाह (मोदी) अगर कहें तो सबूत के तौर पर फोटोग्राफ भी दि‍खा सकता हूं। यही नहीं, नवाज शरीफ की मां से मुलाकात के दौरान अडानी और जि‍दंल भी साथ में थे।” हालांकि, भारत सरकार ने बयान जारी कर आजम के दावे को बेबुनियाद करार दिया था।
आजम ने और क्या कहा था?
 -वाराणसी तो क्योटो नहीं बन पाया, लेकिन जापान के पीएम इसी नाम पर हजारों करोड़ रुपए की डील करके चले गए।
-हमारे पीएम पाक के पीएम नवाज शरीफ को पश्मीना की शॉल और मलीहाबादी आम भेजते हैं।
-पाकिस्‍तान से सीक कबाब आते हैं, कबाब लौकी से नहीं बनते। इसके भी मेरे पास सबूत हैं।
-यूपी में कानून व्यवस्था के सवाल पर आजम ने कहा कि बीजेपी शासित राज्यों में सबसे ज्यादा अपराध हो रहे हैं।
-मोदी के कारण मीडिया बीजेपी की सरकार वाले राज्यों में हो रहे अपराधों को नहीं दिखाता है।
-नगर विकास का बजट केंद्र ने 40 पर्सेंट कम कर दिया है। बीजेपी यहां पहले ही हार मान चुकी है, इसीलिए बजट रोक दिए गए हैं।
-बीजेपी को चुनाव लड़ने वाले नहीं मिल रहे हैं। कांग्रेस का यूपी में कुछ नहीं बचा है।
-स्मार्ट सिटी के बारे में कहा कि बंगाल, यूपी और बिहार को इसलिए शामिल नहीं किया, क्योंकि वहां बीजेपी की सरकार नहीं है।
-बीएसपी का भी हाल पिछले चुनाव जैसा होगा।