आज राष्ट्रपति देंगे समापन स्पीच, 4 लाख 28 हजार करोड़ का निवेश; 20 लाख रोजगार के अवसर

लखनऊ. राजधानी लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में ‘यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018’ (UPIS) दूसरे दिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद समापन स्पीच देंगे। राष्ट्रपति दोपहर 3.40 बजे लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पहुंचे। इसके बाद 4.20 बजे इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान पहुंचेंगे। जहां वह इन्वेस्टर्स समिट के समापन समारोह को संबोधित करेंगे। शाम 5.30 बजे अमौसी एयरपोर्ट के लिए रवाना हो जाएंगे। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने बुधवार को ‘यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018’ (UPIS) की शुरुआत की थी। समिट के पहले दिन सबसे पहले मुकेश अंबानी ने स्पीच दी। उन्होंने कहा था कि जियो यूपी में अगले 3 साल में 10 हजार करोड़ का इन्वेस्टमेंट करेगी।

– मुकेश अंबानी, गौतम अडाणी, कुमार मंगलम बिड़ला समेत 5 हजार उद्योगपति शामिल हुए हैं। पहले ही दिन 1045 मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिग (एमओयू) साइन हुए। इसके तहत यूपी में 4 लाख 28 हजार करोड़ का निवेश किया जाएगा।

अंतिम दिन होंगे 15 सेशन होंगे
– समिट के दुसरे दिन 15 सेशन होंगे। इनमें आईटी, डिफेन्स मैन्युफैक्चरिंग, सिविल एवियेशन समेत एनआरआई, मीडिया के सेशन शामिल हैं।
– डिफेन्स सेक्टर होनी वाली चर्चा के लिए देश की रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण के साथ खुद सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे।

ये मंत्री देंगे स्पीच
– सेशन के दूसरे दिन केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, वित्त मंत्री अरुण जेटली, सीआर चौधरी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, सुरेश प्रभु, अशोक गणपति राजू, डॉ हर्षवर्धन, धर्मेद्र प्रधान और वीके सिंह संबोधित करेंगे।
– वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा भी संबोधित करेंगे।

पहले दिन साइन हुए टॉप एमओयू

– यूपी इन्वेस्टर समिट के पहले दिन सरकार की तरफ से टॉप 12 एमओयू की लिस्ट जारी की गयी है। जिसमें 16,1750 करोड़ रुपए के एमओयू साइन किए गए हैं।

कौन कितना करेगा निवेश
– अडानी समूह- 35000 करोड़ रुपए
– बिडला कॉर्पोरेशन- 25000 करोड़ रुपए
– एस्सेल- 18750 करोड़ रुपए0
– सिकरिया इन्फ्रा प्रोजेक्ट- 16000 करोड़ रुपए
– पवन वाटर साल्यूशन – 12000 करोड़ रुपए
– सीआईडीवी होल्डिंग- 10000 करोड़ रुपए
– हिंदुजा- 10000 करोड़ रुपए
– रिलायंस जियो इन्फोकॉम- 10000 करोड़ रुपए
– रिन्यू पॉवर वेंचर्स- 8000 करोड़ रुपए
– टोरेंट पॉवर- 6000 करोड़ रुपए
– एज्योर पॉवर- 6000 करोड़ रुपए
– नॉएडा अपेरल एक्सपोर्ट चैंबर- 5000 करोड़ रुपए का निवेश करेगा।

-इसी तरह पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग (पीएसयू) से भी कंपनियों ने निवेश में रूचि दिखाई है। टॉप 12 कंपनियों के जरिये 96860 करोड़ का निवेश अगले पांच साल में प्रस्तावित हुआ है।
– एकेआईसी डीसी- 35000 करोड़ रुपए
– डीएफसीसीआईएएल-16105.31 करोड़
– टीएचडीसीआईएल-12000 करोड़
– बीएचईएल-12000 करोड़
– मथुरा रिफाइनरी विस्तार-8700 करोड़
– डीएमआईसी डीसी-5000 करोड़
– नेवीलेलिग्निट्स-4000 करोड़
– आईओसीएल-1500 करोड़
– गेल विस्तार-1200 करोड़
– हिन्दुस्तान पेट्रोलियम-700 करोड़
– इफ्को-350 करोड़
– सीसीआईएल-305 करोड़

किस सेक्टर में कितना निवेश

– यूपी इन्वेस्टर समिट के पहले दिन निवेशकों ने 12 सेक्टर्स पर फोकस करते हुए 310970 करोड़ के एमओयू साइन किए हैं। आपको बता दे कि यह डाटा अभी 300 करोड़ के ऊपर के साइन किये गए एमओयू का ही है।

– एग्रो फ़ूड प्रोसेसिंग- 26713 करोड़
– इंफ्रास्ट्रक्चर- 163800 करोड़
– वैकल्पिक उर्जा-65290करोड़
– एमएसएमई-6525 करोड़
– आईटी इलेक्ट्रॉनिक्स-7490 करोड़
– हेल्थ केयर-9875 करोड़
– हैंडलूम एंड टेक्स्टाईल-9650 करोड़
– पर्यटन-8050 करोड़
– फिल्म एंड मीडिया-2170 करोड़
– इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग-5490 करोड़
– शिक्षा-8700 करोड़
– सिविल एवियेशन-550 करोड़

कहां कितनी नौकरी

– अडानी ग्रुप- 19300 रोजगार
– आदित्य बिरला ग्रुप-30000 रोजगार
– डेडिकेटेड फ्राईट कॉरिडोर कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया-13450 रोजगार
– सिकारिया इन्फ्रा प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड-10000 रोजगार
– पवन वाटर साल्यूशन-100 रोजगार
– भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड- 2400 रोजगार
– सीआईडीबी होल्डिंग्स एसडीएन- 5000 रोजगार
– हिंदुजा ग्रुप-1000 रोजगार
– रिलायंस जिओ इन्फोकॉम- 2000 रोजगार
– रिन्यू पॉवर वेंचर्स- 12000 रोजगार
– टोरेंट पॉवर लिमिटेड- 5300 रोजगार
– अजुरे पॉवर इंप्राइवेट लिमिटेड- 3500 रोजगार
– नॉएडा अपैरल एक्सपोर्ट्स क्लस्टर-5 लाख रोजगार
– एस्सेल इन्फ्रा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड- 100 रोजगार
– स्टरलाईट ग्रिड-1000

सरकार की तैयारी क्या है?

– 5000 लोगों के बैठने की व्यवस्था है।
– 4000 गमले लगाए गए हैं सुंदरता बढ़ाने के लिए।
– 600 पुलिसकर्मी और स्नाइपर सुरक्षा के लिए तैनात होंगे।
– 525 कारें, 50 बसें लगाई गईं। 36 होटलों में मेहमानों के ठहरने की व्यवस्था।

समिट का मकसद क्या है?

– मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ निवेश को बढ़ाना चाहते हैं। इन्वेस्टर्स समिट के लिए योगी मुंबई में रोड शो कर चुके हैं।
– सरकार का दावा है कि समिट के जरिए प्रदेश के 20 लाख युवाओं को रोजगार मिलेगा और 900 एमओयू पर साइन होंगे।

सरकार का फोकस एरिया क्या है?

– कृषि, फूड प्रॉसेसिंग, डेयरी, बिजली, आईटी और स्टार्टअप, पर्यटन, अक्षय ऊर्जा, फिल्म, एमएसएमई और हैंडलूम व टैक्सटाइल।

7 चरणों में सुरक्षा

– इन्वेस्टर समिट की सुरक्षा के लिए पहले चरण में लोकल पुलिस के करीब 8 हजार पुलिस कर्मी शामिल हैं। आयोजन स्थल में सिविल ड्रेस में सब इंपेक्टर रैंक के पुलिसकर्मियों को दो घेरे बनाए गए हैं।

– यूपी एटीएस की पांच टीमों को लगाया गया है, जिसमें ATS की दो कमांडो टीम और 3 स्वार्ड टीमें शामिल है। उसके बाद एसपीजी और NSG का घेरा रहेगा। आयोजन स्थल के बाहर PAC और ट्रैफिक पुलिस तैनात है।

– सुरक्षा के लिए 9 SP, 35 SSP, 80 DSP, 55 इंस्पेक्टर, 625 एसआई, 60 महिला एसआई, 3200 कांस्टेबल, 11 चीआई, 104 एचसीटी और 805 ट्रैफिक कांस्टेबल की तैनाती की गई है।