आडवाणी अब करें भी क्या! कोपभवन छोड निकल पडे मोदी की तारीफें करने

17 Sep 2013

रायपुर। पीएम उम्मीदवारी को नाराज चल रहे भाजपा के वरिष्ठ लालकृष्ण आडवाणी सोमवार को कोपभवन से निकलकर छत्तीसगढ पहुंचे और पार्टी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की तारीफों के पुल बांध दिए।

रायपुर में छत्तीसगढ राज्य विद्युत कंपनी के कोरबा स्थित विद्युत संयंत्र का लोकार्पण के दौरान आडवाणी ने कहा कि गुजरात जैसा विकास देश में कहीं भी नहीं दिखता। मोदी को पीएम पद का उम्मीदवार बनाए जाने का सख्त विरोध करने वाले आडवाणी के रूख में अचानक आया यह परिवर्तन चौंकाने वाला है। इससे एक दिन पहले ही आडवाणी ने भाजपा के निलंबित नेता और मशहूर वकील राम जेठमलानी की जन्मदिन पार्टी में मोदी से ठीक से रूख तक नहीं मिलाया था। हालांकि इस मौके पर आडवाणी छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री की भी जमकर तारीफ की, जबकि इससे पहले आडवाणी विकास के मामले में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री रमन सिंह को मोदी से बेहतर बता चुके हैं। उन्होंने बिजली के मद्देनजर मोदी और गुजरात की तारीफ की और कहा कि गुजरात जैसी विकास की रोशनी देश में कही भी देखने को नहीं मिलती।

उन्होंने भविष्यवाणी की कि राजस्थान और छत्सीगढ में सरकार भाजपा की ही बनेगी। उन्होंने छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि रमन सिंह जनता की चिंता करते रहते हैं। यहां पर 24 घंटे बिजली आती है। रैली के लिए छत्तीसगढ पहुंचे आडवाणी ने कहा, मैं रमन सिंह और उनके कैबिनेट के सभी लोगों को प्रणाम करता हूं। मैं मध्य प्रदेश में भी इस प्रकार के कार्यक्रम के लिए गया था। नरेंद्र मोदी, जिन्हें हमारी पार्टी ने प्रधानमंत्री घोषित किया, उनके गुजरात ने सबसे पहले यह उपलब्धि हासिल की जहां हर गांव में सभी लोगों को बिजली उपलब्ध कराई गई। भाजपा की सरकारों से कोई तुलना कर लें, हमारी राज्य सरकारों ने हमेशा जनता के लिए काम किया है।

आडवाणी ने यह भी कहा कि वाजपेयी जी ने मुझे जिम्मेदारी दी थी कि मैं इस प्रदेश का निर्माण करूं, वोट बैंक की चिंता किए बिना। गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी को पहले भाजपा की चुनाव अभियान समिति की कमान देने और हाल में पीएम उम्मीदवारी देने पर नाराजगी जता चुके आडवाणी ने मोदी की तारीफ कर नए सवालों को जन्म दे दिया है। आडवाणी का यह कार्यक्रम मोदी को उम्मीदवार बनाए जान से पूर्व तय हुआ था। बदल राजनीतिक परिदृश्य को लेकर उनके दौरे पर संशय पैदा हो गया था। आडवाणी का छत्तीसगढ से काफी जुडाव रहा है और वह यहां लगातार आते रहे हैं। मोदी से बनी दूरी के बीच आडवाणी सार्वजनिक रूप से छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री रमन सिंह और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के कामकाज की तारीफ करते रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *