आतंकी हमले के मुख्‍य साजिशकर्ता जकीउर-रहमान लखवी की रिहाई का आदेश दिया

इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने 2008 के मुंबई आतंकी हमले के मुख्‍य साजिशकर्ता जकीउर-रहमान लखवी को नजरबंद रखने की कार्रवाई को आज रद्द कर दिया। लखवी को आतंकवाद निरोधी अदालत ने जमानत दे दी थी,

जिसके बाद सरकार ने उसकी नजरबंदी की अधिसूचना जारी की। इसे इस्‍लामाबाद उच्‍च न्‍यायालय ने रद्द कर दिया। न्यायमूर्ति नूरुल हक कुरैशी ने लखवी की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि अदालत से जमानत मिलने के बाद आरोपी को घर में नजरबंद रखना गैर कानूनी है। लखवी और छह अन्‍य पर मुम्‍बई में 26 नवम्‍बर 2008 के हमलों का षड्यंत्र रचने और उसे अंजाम देने का आरोप है। इन हमलों में 166 लोगों की मौत हो गई थी। मुकदमा 2009 से चल रहा है। पिछले महीने की 19 तारीख को पाकिस्‍तानी अधिकारियों ने लखवी को सार्वजनिक व्‍यवस्‍था बनाये रखने के अनुच्‍छेदों के तहत पकड़ा था। उसे कम से कम तीन महीने के लिए जेल में रखा जाना था। इससे एक दिन पहले सबूतों की कमी के कारण लखवी को इस्‍लामाबाद की आतंकवाद निरोधी अदालत ने जमानत दे दी थी।