‘आप’ का असर, राजे ने घटाई सुरक्षा

Tatpar 2 jan 2014

दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पुलिस सुरक्षा और सरकारी बंगला नहीं लेने के फैसले का असर अब दूसरे नेताओं पर भी दिखने लगा है।
पिछले दिनों पदभार संभालने वाली राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी अपनी सुरक्षा में कटौती करने का निर्देश दिया है, जिससे कि आम लोगों को उनसे मिलने में परेशानी न हो।
राजे ने राज्य के डीजीपी ओमेंद्र भारद्वाज से खुद की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों की संख्या आधा करने को कहा है। मुख्यमंत्री को जेड-प्लस सुरक्षा मुहैया करवाई गई है।
भारद्वाज ने कहा कि वे मुख्यमंत्री के निर्देश पर सुरक्षा इंतजाम और तैनात किए जाने वाले सुरक्षाकर्मियों की संख्या पर नए तरीके से काम कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की सुरक्षा से हटाए गए सुरक्षाकर्मियों को बुधवार को लोगों की सुरक्षा और कानून व व्यवस्था लागू कराने में तैनात किया जाएगा।
राजे के प्रेस सलाहकार महेंद्र भारद्वाज ने कहा कि मुख्यमंत्री ने पुलिस को यह भी निर्देश दिया है कि उनके काफिला के गुजरने के दौरान ट्रैफिक को नहीं रोका जाना चाहिए।
इतना ही नहीं राजे अब तक मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास 8 सिविल लाइंस में नहीं गई हैं। वह अभी अपने 13 सिविल लाइंस स्थित घर में ही रह रही हैं।

उनके कार्यालय से जारी एक आधिकारिक रिलीज में कहा गया है कि राजे के सरकारी बंगले में नहीं जाने के फैसले के बाद ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आधिकारिक आवास में नहीं जाने की घोषणा की।