इंटरनेट एवं वाई-फाई की सुविधाओं से लेस होंगे प्रदेश के कैंपस

Tatpar 4 Jan 2014

भोपाल। प्रदेश के 10 महाविद्यालय का चयन कर इनकी राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों से साझेदारी की कार्य-योजना जल्द बनाई जाएगी। सभी विश्वविद्यालय और महाविद्यालय के कैंपस में इंटरनेट एवं वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इस तरह के अनेक महत्वपूर्ण कार्य उच्च शिक्षा विभाग के दृष्टि-पत्र 2018 एवं 100 दिनी कार्य-योजना में शामिल किए गए हैं।

कार्य-योजना में प्रत्येक विश्वविद्यालय के दो विभाग को राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्टता दिलवाना और विश्वविद्यालय की कार्य-प्रणाली में सुधार भी शामिल है। प्रथम चरण में विश्वविद्यालय की कार्यपालिका के ढांचे में परिवर्तन, प्राध्यापक चयन समिति में संशोधन और अंतरविश्वविद्यालयीन पदों के अंतरण की नीति बनेगी। विश्वविद्यालय की शिक्षा और शोध में गुणात्मक सुधार किया जाएगा।

लक्ष्मण सिंह गौड़ पुरस्कार योजना में मेरिट और उत्कृष्टता आधारित स्कॉलरशिप की संख्या बढ़ाई जाएगी। महाविद्यालयों की अधोसंरचना का विकास किया जाएगा। छात्रावासों के संचालन के लिये पदों का सृजन किया जाएगा। संकाय के प्रशिक्षण की विस्तृत योजना बनाई जाएगी। वर्चुअल क्लास-रूम एजूकेशन प्रोग्राम 100 महाविद्यालय में किया जाएगा। अभी 35 महाविद्यालय में यह कार्यक्रम संचालित है। ई-मेंटेन लायब्रेरी योजना में 15 महाविद्यालय में ई-रिसोर्स सेंटर स्थापित किए जाएंगे।

प्रथम वर्ष में प्रवेशित विद्यार्थियों को मिलेंगे स्मार्ट फोन: शासकीय महाविद्यालय में प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन दिए जाएंगे। महाविद्यालय के रिक्त पदों पर सीधी भर्ती की जाएगी। विवेकानंद कैरियर मार्गदर्शन योजना में प्लेसमेंट के लिए अग्रणी उद्योगपतियों का सहयोग लिया जाएगा।