इंडिया से लेकर इजराइल और सिंगापुर तक बागों में नमो-नमो, मोदी नाम के 3 फूल

नेशनल डेस्क. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों सिंगापुर की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं। वहां के नेशनल ऑर्चिड गार्डन पहुंचे। जिसके बाद उनकी इस विजिट को यादगार बनाने के लिए वहां एक आर्चिड फूल का नाम पर उनके नाम पर रखा गया। इस बारे में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट करते हुए बताया कि ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सिंगापुर के नेशनल ऑर्चिड गार्डन पहुंचने को यादगार बनाने के लिए वहां एक ऑर्चिड का नाम ‘डेंड्रोब्रियम नरेंद्र मोदी’ रखा गया।’

क्या है फूल की खासियत…

– जिस फूल का नाम पीएम के नाम पर रखा गया है, वो एक मजबूत और उष्णकटिबंधीय आर्किड है, जिसके पौधे की ऊंचाई 38 सेंटीमीटर तक होती है और इसमें एकसाथ 14 से 20 अच्छी तरह से व्यवस्थित फूल आते हैं।
– इस गार्डन के बाद प्रधानमंत्री सिंगापुर के सबसे पुराने हिंदू मंदिर श्रीमरिअम्मन पहुंचे और वहां प्रार्थना में हिस्सा लिया।
– इस मंदिर का निर्माण सन् 1827 में दक्षिण भारत के नागपट्टनम और कुडलोर से सिंगापुर गए प्रवासी भारतीयों ने करवाया था।

इजराइल में भी है मोदी के नाम का फूल

– पिछले साल जुलाई में जब प्रधानमंत्री इजराइल यात्रा पर गए थे, तब वहां पर भी एक फूल का नाम उनके ऊपर रखा गया था।
– वहां पर इजराइली क्राइसान्थमन के फूल को ‘मोदी’ नाम दिया गया। अब इस फूल को इसी नाम से जाना जाता है। इस फूल की खासियत ये है कि इसका पौधा काफी तेजी से बढ़ता है।

सिक्किम में भी मोदी के नाम पर है फूल

– साल 2016 में प्रधानमंत्री की सिक्किम यात्रा के दौरान वहां के मुख्यमंत्री पवन चामलिंग ने वहां पाई जाने वाली ऑर्चिड की तीन किस्मों में से एक का नाम मोदी रखा था।
– ऑर्चिड की उस किस्म का नाम ‘साइम्बिडियम नमो’ रखा गया। इस मौके पर पीएम ने कहा था, मुझे फूल जितना नाजुक मत बनने दो, मैं तो कांटों के बीच रहता हूं।
– सिक्किम में पाई जाने वाली ऑर्चिड की बाकी दो किस्मों का नाम सरदार पटेल और दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *