इकोनॉमिक डेवलपमेंट के 25 साल बाद देश में 50 गुना बढ़ गए अमीर

मुंबई. अमीर-गरीबों के बीच दुनिया में कितना अंतर बढ़ चुका है, ये विश्व की 3 बड़ी एजेंसियों की रिपोर्ट से पता चल रहा है। ऑक्सफैम, वर्ल्ड वेल्थ की रिपोर्ट और क्रेडिट सुइस के एनालिसिस के बाद देश और दुनिया के बारे में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। पढ़िये पूरी रिपोर्ट…
देश में करोड़पतियों की संख्या 2 लाख 36 हजार….
ऑक्सफैम की रिपोर्ट के बाद मंगलवार को न्यू वर्ल्ड वेल्थ ने एशिया पैसेफिक 2016 की रिपोर्ट जारी कर दी। दो दिन में आई दो रिपोर्ट्स का निष्कर्ष एक ही है-दुनिया में अमीर-गरीब के बीच अंतर तेजी से बढ़ रहा है। वर्ल्ड वेल्थ की मंगलवार की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में अति अमीरों की संख्या 2 लाख 36 हजार हो गई है। पिछले साल ये आंकड़ा 1 लाख 98 हजार था। यानी एक साल में हाई नेटवर्थ इंडीविजुअल्स (एचएनआई) की आबादी 19.9% बढ़ गई।
कौन है अति अमीर…
– दोनों रिपोर्ट्स के मुताबिक, अति अमीर वो लोग हैं जिनके पास 10 लाख डॉलर यानी 6.76 करोड़ रुपए या इससे अधिक की चल-अचल संपत्ति है।
– एशिया पैसेफिक के अति धनाढ्यों की इस सूची में भारत चौथे नंबर पर है, जबकि 12 लाख 60 हजार करोड़पतियों के साथ जापान पहले पायदान पर है।
– सोमवार को ऑक्सफैम ने बताया था कि दुनिया की आधी संपत्ति सिर्फ 62 लोगों के पास है।