इमोशनली ब्लैकमेल करना बंद करें राहुल

Tatpar 25/10/13

भोपाल। मध्यप्रदेश बीजेपी ने कहा है कि कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी जनता को परिवार के नाम पर “इमोशनली ब्लैकमेल” करना बंद कर कर अपनी पार्टी के कार्यकाल की उपलब्धियां देश की जनता को बताएं।
http://youtu.be/fWVerq_J1Ds
मप्र सरकार के एक मंत्री ने कहा कि राहुल गांधी ने जयपुर के कांग्रेस सम्मेलन में कांग्रेस उपाध्यक्ष बनने के बाद पहली बार अपने संबोधन में अपनी मां के सम्बन्ध में भावुक भाषण दिया था जिसे मीडिया में काफी प्रचार भी मिला। उन्होंने कहा कि इसके बाद से ही गांधी लगातार अपने भावुक भाषणों के माध्यम से जनता को न सिर्फ आकर्षित करने की कोशिश कर रहे हैं वरन जनता का ध्यान अत्यंत महत्वपूर्ण मुद्दों से भटकाने का असफल प्रयास कर रहे है।

उन्होंने कहा कि चूरू में गांधी ने अपनी दादी और अपने पिताजी के निधन को लेकर कुछ पारिवारिक बातों का जिक्र किया। इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के निधन पर सभी को दुख हुआ था लेकिन पिछले 10 सालों में लाखों भारतीय यूपीए सरकार के कुशासन के शिकार हुए। यूपीए सरकार की कार्यकाल में सीमा पर विदेशी दुश्मनों ने भारतीय सेना के जवानों के सिर कलम किए। इन भारतीयों के लिए कौन आंसू बहाएगा।

उन्होनें कहा कि गांधी लोगों को ब्लैकमेल करने से पहले बताए कि कांग्रेस के शासन के दौरान देश में हुए भ्रष्टाचार भारतीय मुद्रा के अवमूल्यन बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी ने अपना विकरालरूप आपकी ही सरकार में क्यों धारण किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल के दौरान जहां देश के अंदर नक्सलवाद और देश की सीमा पर सुरक्षा का खतरा क्यों बढ़ा वहीं भारत में विदेशी निवेशकों का विश्वास कम हुआ। उस समय गांधी कहां थे और उनकी यह भावुकता कहा गई थी।

उन्होंने कांग्रेस के शासनकाल में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुए दंगों का भी जिक्र किया और कांग्रेस से इसका जबाब मांगा। उन्होंने कहा कि आज देश को “इमोशनल अत्याचार” नहीं चाहिए और गांधी जनता को इमोशनली ब्लैकमेल करना बंद करें। प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के दौरान 17 अक्टूबर को शहडोल और ग्वालियर में तथा 24 अक्टूबर को सागर के राहतगढ और इंदौर में गांधी ने कांग्रेस की सत्ता परिवर्तन रैलियों को संबोधित किया था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *