उच्‍चतम न्‍यायालय के समक्ष गंगा नदी की सफाई के लिए 2018 तक की समय सीमा रखी

केन्‍द्र सरकार ने उच्‍चतम न्‍यायालय को आज बताया कि सरकार की योजना गंगा को 2018 तक साफ करने की है। उच्‍चतम न्‍यायालय द्वारा यह पूछे जाने पर कि सफाई का यह काम उनके इस कार्यकाल

में होगा या अगले में, महाधिवक्‍ता रंजीत कुमार ने कहा कि सरकार इस काम को 2018 तक पूरा करना चाहती है। उच्‍चतम न्‍यायालय ने गंगा की सफाई परियोजना पर चरणबद्ध तरीके से अमल करने के बारे में उठाये जाने वाले कदमों पर सरकार से छह सप्‍ताह में जवाब मांगा है। न्‍यायमूर्ति टी एस ठाकुर की अध्‍यक्षता वाली एक पीठ ने कहा कि तीन दशक से भी अधिक समय से गंगा की सफाई के कार्यक्रम चल रहे हैं लेकिन उनका कोई असर देखने में नहीं आया है। उच्‍चतम न्‍यायालय ने उत्‍तराखंड, उत्‍तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल राज्‍यों में गंगा सफाई परियोजनाओं के बारे में चरणबद्ध उपायों पर ताजा रिपोर्ट मांगी है।