उत्तराखंड: कांग्रेस बोली- पूर्व CM का बेटा है बगावत का मास्टरमाइंड, किया बर्खास्त

देहरादून/नई दिल्ली.कांग्रेस के 9 बागी एमएलए बीजेपी के विधायकों के साथ आज ही राष्ट्रपति से मुलाकात करने वाले हैं। इस बीच, पार्टी के खिलाफ काम करने के आरोप में कांग्रेस के साकेत बहुगुणा और अनिल गुप्ता को 6 साल के बाहर कर दिया गया है। साकेत पूर्व सीएम विजय बहुगुणा के बेटे हैं। कांग्रेस ने साकेत को बगावत का मास्टरमाइंड बताया है। गुप्ता कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी थे।
रावत ने विधायकों को भेजा नैनीताल…
 – जो एमएलए सीएम हरीश रावत के खिलाफ हैं वो सभी पूर्व सीएम विजय बहुगुणा खेमे के बताए जा रहे हैं।
– बहुगुणा के बारे में कहा जाता है कि वह जुलाई में खाली हो रही राज्यसभा की सीट चाहते हैं।
– इस बीच, बगावत का सामना कर रहे सीएम रावत ने खरीद-फरोख्त के डर से कांग्रेस और पीडीएफ विधायकों को नैनीताल भेज दिया है।
– तीन प्राइवेट हेलिकॉप्टरों में इन विधायकों को सीक्रेट लोकेशन पर पहुंचाया गया है।
– सीएम हरीश रावत दिल्ली पहुंच गए हैं। वे यहां सोनिया और राहुल गांधी से मुलाकात करने वाले हैं।
– रावत ने रविवार को कहा, ”मैं प्रधानमंत्री से गुजारिश करता हूं कि लोकतंत्र की हत्या कर होली मत खेलिए, रंगों की होली खेलिए।”
– उन्होंने बागी हो चुके मंत्री हरक सिंह रावत का विधानसभा में दफ्तर बंद करवा दिया और उनकी फाइलों की पड़ताल कराई है।
– इस बीच, बागी गुट के नेता हरक सिंह ने राज्यपाल को लिखी चिट्ठी में कहा है कि वे सीएम को बहुमत साबित करने के लिए 28 की बजाए 25 मार्च तक का ही वक्त दें।
उत्तराखंड क्राइसिस पर राहुल v/s जेटली
 – इससे पहले, राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि पैसे और ताकत के बल पर खरीद-फरोख्त कर सरकार गिराना बीजेपी का नया मॉडल है। पहले अरुणाचल और अब उत्तराखंड। लोकतंत्र और संविधान पर हमला भाजपा का नया चेहरा है।
– इस पर अरुण जेटली ने कहा- “उत्तराखंड में एक व्यक्ति मुख्यमंत्री बनता है तो दूसरा उसे गिराने में लग जाता है। बीजेपी का इससे लेना-देना नहीं। स्पीकर नाकाम विधेयक को पारित मान रहे हैं तो यह अजीब स्थिति है।”
केंद्र सरकार पर एनकाउंटर करने का आरोप…
 – हरीश रावत ने कहा, ”मोदीजी को होली की शुभकामनाएं देता हूं, उनसे कहना चाहता हूं कि लोकतंत्र की हत्या कर होली मत खेलिए।”
– ”पहले घोड़े की टांग तोड़ी और अब हॉर्स ट्रेडिंग करके उत्तराखंड की टांग तोड़ रहे हैं।”
– ”केंद्र सरकार संघवाद की बात करती है और राज्य सरकारों को टारगेट करके एक तरह से उनका एनकाउंटर कर रही है।”
– ”बीजेपी राज्य सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है, वे एक तरह से डेमोक्रेसी की हत्या कर रहे हैं।”
– ”बीजेपी ने सरकार के खिलाफ बागी होने के लिए कांग्रेस विधायकों को 5-5 करोड़ रुपए ऑफर किए हैं।”
28 मार्च तक साबित करना है बहुमत
 – हरीश रावत को उत्तराखंड में अपनी सरकार बचाने के लिए 28 मार्च तक असेंबली में बहुमत साबित करना है।
– बता दें कि पिछले दिनों कांग्रेस के 9 विधायकों ने बीजेपी से हाथ मिला लिया, इससे राज्य में सियासी संकट पैदा हुआ।
– कांग्रेस ने 2014 में विजय बहुगुणा को हटाकर हरीश रावत को राज्य का सीएम बनाया था।
प्रेसिडेंट से मिलने का नहीं मिला वक्त : हरक सिंह
 – सीएम ने कांग्रेस के बागी एग्रीकल्चर मिनिस्टर हरक सिंह रावत को बर्खास्त कर उनका ऑफिस सील करा दिया है।
– हरक सिंह ने कहा- “हम प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी से मिलना चाहते हैं, लेकिन अब तक वक्त नहीं मिला। जरूरत पड़ी तो कोर्ट जाएंगे।”
– ”खुलेआम कहता हूं कि उत्तराखंड का सीएम हाउस सत्ता की दलाली का अड्डा बन चुका है। वन मैन शो किसी को बर्दाश्त नहीं, सरकार बनाने में मेरी मेहनत लगी है।”
– ”राहुल गांधी किसी को टाइम नहीं देते। कई बार प्रदेश में वन मैन शो की शिकायत पार्टी लीडर अंबिका सोनी और संजय कपूर से की, लेकिन सुनवाई नहीं हुई।”
– कांग्रेस के नौ बागी विधायकों ने स्पीकर गोविंद सिंह कुंजवाल के खिलाफ राजभवन में गवर्नर को एंटी डिफेक्शन लॉ के तहत नोटिस दिया है।
– संसदीय मामलों की मिनिस्टर इंदिरा हृदयेश ने कहा है कि अगर बागी विधायक वापस लौटना चाहते हैं तो हम उनका वेलकम करते हैं।
असेंबली में अभी क्या है स्थिति
 – 70 सीटों वाली उत्तराखंड असेंबली में कांग्रेस के 36, बीजेपी के 28, निर्दलीय 3, बीएसपी के 2 और यूकेडी का 1 विधायक है।
– कांग्रेस से 9 विधायक बागी हैं। यानी हरीश रावत की कुर्सी खतरे में है।
क्यों हो रहा है हरीश रावत का विरोध
 – कांग्रेस के बागी विधायक सीएम हरीश रावत के कामकाज से नाराज हैं।
– विधायकों का आरोप है कि सरकार में बड़े पैमाने पर करप्शन हो रहा है और राज्य बर्बादी की और जा रहा है।
– हालांकि, सूत्रों का कहना है कि बगावत के पीछे विजय बहुगुणा का रोल अहम हैं।
– बहुगुणा, रावत को सीएम बनाने को लेकर कई बार खुलकर अपनी नाराजगी जता चुके हैं।
– वे पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी की मांग करते आ रहे थे, हरीश रावत खेमा उन्हें जिम्मेदारी देने के विरोध में था।
कौन कर रहा है बागियों की अगुआई
 – बागी विधायकों को कांग्रेस के पूर्व सीएम विजय बहुगुणा लीड कर रहे हैं, इनमें हरक सिंह रावत, यशपाल आर्य, अमृता रावत, प्रतीप बत्रा और अंबिका रावत शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *