उपचुनाव: यूपी, बिहार में 3 लोकसभा सीटों पर भाजपा हारी, 2 में से सिर्फ एक विधानसभा ही बीजेपी के हाथ आई

नई दिल्ली. मप्र और राजस्थान में हार के बाद भाजपा को यूपी उपचुनाव में भी हार का सामना करना पड़ा है। भाजपा यूपी में सीएम योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर और डिप्टी सीएम केशव मौर्या की फूलपुर दोनों सीट हार गई। गोरखपुर से सपा प्रत्याशी 29 साल के प्रवीण निषाद ने भाजपा के उपेंद्र शुक्ल को 21 हजार वोटों से मात दी। फूलपुर में सपा के नगेंद्र पटेल ने भाजपा के कौशलेंद्र पटेल को 59 हजार वोटों से हराया। सपा को बसपा ने समर्थन दिया था। बिहार में राजद के सरफराज आलम ने अररिया लोकसभा सीट पर भाजपा के प्रदीप सिंह को 61 हजार वोटों से हराया। भभुआ विधानसभा सीट पर भाजपा की रिंकी पांडेय व जहानाबाद सीट पर राजद के सुदय यादव विजयी रहे।

भाजपा 8 में से 6 सीट हारी
– 2014 लोकसभा चुनाव के बाद 11 राज्यों में 19 लोकसभा सीटों पर उपचुनाव हुए हैं। इनमें 8 सीटें भाजपा के पास थीं। पर भाजपा सिर्फ दो सीट ही बरकरार रख सकी है। छह सीटों पर उसे हार मिली है। भाजपा सिर्फ वड़ोदरा और शहडोल सीट ही जीत पाई है।

आगे क्या संभावना?
– 2019 में सपा, बसपा और उनके साथ कांग्रेस भी आ सकती है। अगर अभी यूपी में सपा-बसपा के वोटों को मिला दें तो भाजपा की सीटें 73 से घटकर 37 हो जाती हैं।

पहले जानिए: क्यों हुए थे गोरखपुर-फूलपुर सीट पर चुनाव?
1) गोरखपुर-योगी आदित्यनाथ यहां से लगातार 5 बार सांसद चुने गए। यूपी के मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने 21 सितंबर, 2017 को सीट छोड़ दी।
2) फूलपुर- केशव प्रसाद मौर्य यहां से सांसद थे। उनके यूपी के डिप्टी सीएम बनने के बाद यह सीट खाली हुई।

गोरखपुर में कौन थे कैंडिडेट?
बीजेपी: उपेंद्र दत्त शुक्ल
सपा+बसपा का उम्मीदवार: प्रवीण निषाद

 फूलपुर में उम्मीदवार कौन थे?
बीजेपी: कौशलेंद्र सिंह पटेल। वो वाराणसी के मेयर रह चुके हैं।
सपा+बसपा का उम्मीदवार: नागेंद्र सिंह पटेल।
निर्दलीय अतीक अहमद: फूलपुर से सांसद रह चुके हैं। इस बार जेल से चुनाव लड़ रहे हैं।