एक छोटी सी दुकान का भरते रहे रिटर्न, छापे में निकला करोड़ों का कारोबार

भोपाल. आयकर विभाग की इनवेस्टीगेशन विंग ने बुधवार को भोपाल के बड़े हॉस्पिटल नर्मदा ट्रॉमा सेंटर, उससे जुड़े समूह, मिठाई के कारोबारी मनोहर डेयरी समेत 23 ठिकानों पर छापे मारे। इनमें नर्मदा हॉस्पिटल के भोपाल में 15 ठिकाने और होशंगाबाद स्थित हॉस्पिटल शामिल हैं, जबकि मनोहर डेयरी के भोपाल में 6 और इंदौर में एक प्रतिष्ठान छापे की कार्रवाई की गई।
छापे में बड़े पैमाने पर ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जिनमें टैक्स छिपाए जाने का खुलासा हुआ है। दोनों समूहों से 1.5 करोड़ रुपए से अधिक नगदी व ज्वैलरी मिलने की खबर है, जिसका आकलन देर रात तक जारी थी। एक दर्जन लॉकरों का भी पता चला है। सौ से ज्यादा आयकर अफसरों की टीम इस कार्रवाई में लगी है।
मनोहर डेयरी : इंदौर में छोटी सी दुकान का रिटर्न, भोपाल में करोड़ों का कारोबार
मनोहर डेयरी के मुरलीधर हरवानी व मनोहर हरवानी की एक छोटी सी दुकान मनोहर फूड्स एंड स्वीट्स इंदौर के जवाहर मार्ग पर है। वे इसी को आधार बनाकर इंदौर में रिटर्न भर रहे थे, जबकि बड़ा कारोबार भोपाल में था। यहां उनके चार आउटलेट एमपी नगर जोन-1, हमीदिया रोड, न्यूमार्केट और इंडस्ट्रियल एरिया में हैं। गोविंदपुरा में बड़ी फैक्ट्री है। जांच से जाहिर हुआ है कि मनोहर डेयरी रिटर्न में टैक्स काफी कम दिखा रहा था। जबकि सालाना टर्न ओवर 15 करोड़ के आसपास था।
सरकारी नौकरी से सेहत का साम्राज्य
सात साल प्रैक्टिस करने के बाद 2006 में डॉ. राजेश शर्मा ने हबीबगंज स्टेशन के नजदीक 70 बेड का नर्मदा ट्रामा सेंटर एंड हॉस्पिटल शुरू किया। यहीं से उनका नेताओं और बिल्डरों से संपर्क और विस्तार की कहानी शुरू हुई। वर्ष 2013 में रेहटी में नर्मदा डे-केयर हॉस्पिटल शुरू किया। मई 2014 में होशंगाबाद में 150 बेड का नर्मदा अपना मल्टी स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल बनाया। साथ ही साथ शिवा कंस्ट्रक्शन खड़ी हुई, जिसे चंडोक ने संभाला। वे डॉ. शर्मा के करीबी थे। शिवा के बावडिय़ां कला में रायल पॉर्क समेत तीन प्रोजेक्ट हैं। भाजपा नेता शैलेंद्र शर्मा तक्षशिला व ट्रूबा कॉलेज से जुड़े हैं। पिछले नगर निगम चुनाव में डॉ. राजेश शर्मा को इन्होंने ही भाजपा की सदस्यता दिलाई। शैलेंद्र को नर्मदा समूह में एक पार्टनर बताया जा रहा है। डॉ. राजेश शर्मा होशंगाबाद में राजनीतिक रूप से भी सक्रिय हैं।