एक विशेष अदालत ने 2010 में एक प्रोफेसर के हाथ काटे जाने के सनसनीखेज मामले में दस लोगों को आठ साल की और दो लोगों को दो-दो साल कड़ी कैद की सजा सुनायी है।

राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी की कोच्चि की एक विशेष अदालत ने 2010 में एक प्रोफेसर के हाथ काटे जाने के सनसनीखेज मामले में दस लोगों को आठ साल की और दो लोगों को दो-दो साल कड़ी कैद की सजा सुनायी है। यह घटना चार जुलाई 2010 को मध्‍य केरल के मुवातुपुज्‍जा में हुई थी। राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी ने इस मामले में 37 लोगों के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल किए थे।