कला बिना जीवन अधूरा – मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कला बिना जीवन अधूरा है। श्री चौहान आज भारत भवन में फिल्मोत्सव के शुभारंभ पर बोल रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन संयुक्त रूप से मध्यप्रदेश आय.ए.एस. ऑफिसर्स एसोसिएशन एवं मध्यप्रदेश माध्यम ने किया है।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में स्मारिका का विमोचन भी किया। इस अवसर पर जनसंपर्क मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल, अभिनेता श्री जिमी शेरगिल, निर्मात्री सुश्री कृशिका लूला एवं बड़ी संख्या में कला प्रेमी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रसन्नता के बिना विकास बेमानी है। विकास तभी सार्थक है जब उसका प्रकाश सब तक पहुँचे। साथ ही प्रसन्नता का सूचकांक भी बढ़े। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश ने विगत वर्षों में बहुत तेजी से प्रगति की है। सात वर्षों से विकास दर डबल डिजिट में है। प्रदेश की कृषि विकास दर दुनिया में सबसे ज्यादा 24.99 प्रतिशत है। सड़क, बिजली, पानी जिसके लिये प्रदेश कभी तरसता था आज भरपूर है। सोशल सेक्टर में भी बहुत कार्य हुआ है। प्रदेश के इस विकास में अधिकारियों का महत्वपूर्ण योगदान है। अधिकारी उनकी टीम मध्यप्रदेश के ऐसे सदस्य हैं जो समर्पित संकल्पित होकर निरंतर प्रदेश को विकास पथ पर आगे बढ़ाने को तत्पर है। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति की परिवार के प्रति भी जिम्मेदारी है। बच्चों में शक्ति का असीम भंडार है। उनको सही दिशा देने की जिम्मेदारी अभिभावकों की है। उन्होंने स्वयं का उदाहरण देते हुये कहा कि बच्चों को संस्कारित करने एवं दिशादर्शन के लिये परिवार एवं बच्चों के लिये भी समय देना जरूरी है।

अभिनेता श्री आर.माधवन ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान मिट्टी की खुशबू वाले व्यक्ति है। उन्होंने भारतीय राजनीति में राजनेता के व्यक्तित्व को नयी पहचान दी है। उनका व्यक्तित्व मानवीय गुणों से भरा है। उन्होंने मुख्यमंत्री के महिलाओं के सम्मान, सशक्तिकरण के प्रयासों और बेटी बचाओ अभियान आदि की कामयाबी के लिए शुभकामनायें दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *