कश्‍मीरी पंडितों के लिए अलग से बस्‍ती बसाने के प्रस्‍ताव के खिलाफ आज अलगाववादी गुटों द्वारा हड़ताल

कश्‍मीर घाटी में विस्‍थापित कश्‍मीरी पंडितों के लिए अलग से बस्‍ती बसाने के प्रस्‍ताव के खिलाफ आज अलगाववादी गुटों द्वारा हड़ताल के आहवान से सामान्‍य जन जीवन प्रभावित रहा। श्रीनगर में दुकानें, व्‍यापारिक प्रतिष्‍ठान और शिक्षा संस्‍थान बंद रहे। सरकारी कार्यालयों और बैंकों में भी उपस्थिति कम रही। सार्वजनिक वाहनों की आवाजाही भी बंद रही, हालांकि शहर के बाहरी और सुदूर क्षेत्रों में कुछ दुकानों के खुले रहने की खबर है। कश्‍मीर हाई कोर्ट बार एसोसिएशन ने भी हड़ताल का समर्थन किया।

मुख्‍यमंत्री मुफ्ती मोहम्‍मद सईद राज्‍य विधानसभा में स्‍पष्‍ट कर चुके हैं कि कश्‍मीरी पंडितों के लिए अलग से बस्‍ती बसाने की कोई योजना नहीं है, लेकिन घाटी में अल्‍पसंख्‍यक समुदाय की वापसी के लिए कदम उठाये जाएंगे।

घाटी में रह रहे कश्‍मीरी पंडितों के एक दल ने भी विरोध प्रदर्शन में भाग लिया। उनका कहना था कि विस्‍थापित पंडितों के लिए अलग से कोई बस्‍ती बसाने की न जरूरत है न इसका कोई फायदा है।