कांग्रेस पार्लियामेंट्री पार्टी मीटः सोनिया नहीं आईं; पहली बार राहुल गांधी ने की अगुआई, कहा- मोदी की दिलचस्पी सिर्फ TRP पॉलिटिक्स में

नई दिल्ली. विंटर सेशन 16 नवंबर को शुरू हुआ था लेकिन अभी तक एक दिन भी कार्यवाही सामान्य रूप से नहीं चल सकी है। शुक्रवार को भी हंगामे के आसार हैं। इस बीच, संसद में कांग्रेस पार्लियामेंट्री पार्टी हुई। इस मीटिंग में बीमारी के कारण पार्टी प्रेसिडेंट सोनिया गांधी नहीं पहुंचीं हैं। पहली बार इसकी अगुआई राहुल गांधी ने की। राहुल लोकसभा और राज्यसभा के कांग्रेस सदस्यों से मिले। कहा- मोदी की दिलचस्पी सिर्फ TRP पॉलिटिक्स में है। बंगाल में आर्मी तैनाती का मुद्दा उठाएगी ममता की पार्टी…
– टीएमसी ने दोनों सदनों में शुक्रवार को बंगाल में आर्मी तैनाती का मुद्दा उठाने जा रही है।
– बता दें कि ममता बनर्जी नोटबंदी के फैसले से नाराज हैं।
– इसे जन विरोधी बताते हुए वे फैसले को वापस करने की मांग कर रही हैं।
– ममता बनर्जी दिल्ली, लखनऊ और पटना में इसके विरोध में रैलियां कर चुकी हैं। प्रेसिडेंट से भी मिल चुकी हैं।
डिफेंस मिनिस्टर संसद में आकर दें सफाई
– सुदीप ने कहा, ”हमारी मांग है कि डिफेंस मिनिस्टर संसद में आएं और आर्मी तैनाती पर वो बयान दें।’
– ”ऐसा कर केंद्र सरकार ने देश के संघीय ढांचे को नुकसान पहुंचाया है।”
ममता बनर्जी की फ्लाइट में फ्यूल खत्म होने का मुद्दा संसद में उठ चुका है
– मुद्दे को लोकसभा-राज्यसभा में कांग्रेस और टीएमसी ने उठाया था। कहा था, ”ममता बनर्जी की जान को खतरा हो सकता था। यह जान से मारने की साजिश थी।”
– हालांकि सरकार ने कहा था, ”सबकी सुरक्षा की जिम्मेदारी है। जांच के आदेश दे दिए गए हैं।”
– वहीं, सिविल एविएशन मिनिस्टर स्टेट जयंत सिन्हा ने कहा था, ”चाहें सीएम हों, संसद सदस्य हों या कोई भी आम आदमी, उनकी सुरक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है। हम कर रहे हैं।”
– ”लैंडिंग के वक्त सारे प्लेन में 30-40 मिनट तक का फ्यूल होना चाहिए। एक डायवर्जन एयरपोर्ट तक जाने का फ्यूल होता है। ये सेफ्टी स्टैंडर्ड है।”
– ”कोई भी वॉयलेशन हुआ है तो सख्त कार्रवाई होगी। डीजीसीए एक्शन लेगा या क्रिमिनल प्रोसीजर के तहत भी एक्शन लिया जा सकता है।”