कीवी की धरती पर धराशायी धौनी के धुरंधर, सीरिज 4-0 से गंवाई

Tatpar 31/01/2014

वेलिंगटन: भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जा रहे पांचवें और सीरीज के अंतिम मैच में भी भारत, न्यूजीलैंड से पराजित हो गया. पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड ने भारत को 304 रनों का लक्ष्य दिया. लेकिन भारत लक्ष्य तक नहीं पहुंच पायी और मैच को 87 रन से गंवा दिया.  

रास टेलर (102) ने अपना लगातार दूसरा शतक जड़कर न्यूजीलैंड को आज यहां भारत के खिलाफ पांचवें और अंतिम एक दिवसीय मैच में पांच विकेट पर 303 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाने में मदद की.

वेस्टपैक स्टेडियम में टेलर ने तब केन विलियम्सन (88) के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिये 152 रन की साझेदारी की, जब न्यूजीलैंड ने 13वें ओवर में 41 रन के स्कोर पर दूसरा विकेट खो दिया था. विलियम्सन ने लगातार पांचवीं अर्धशतकीय पारी खेली. टेलर ने 106 गेंद का सामना करते हुए 10 चौके और एक छक्के जड़े जबकि विलियम्सन ने 91 गेंद की अपनी पारी में आठ चौके और एक छक्का लगाया.

भारत के लिये वरुण आरोन (60 रन देकर दो विकेट) सबसे सफल गेंदबाज रहे जबकि भुवनेश्वर कुमार (48 रन देकर एक विकेट) और मोहम्मद शमी (61 रन देकर एक विकेट) ने उन्हें सहयोग दिया. विराट कोहली ने भी एक विकेट प्राप्त किया जबकि स्पिनर आर अश्विन और रविंद्र जडेजा विकेट नहीं हासिल कर सके. इससे पहले भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने लगातार पांचवीं बार टास जीता और गेंदबाजी करने का फैसला किया. शुरुआती तीन मैचों में भी उन्होंने ऐसा ही किया था.

पिछले तीन मौकों के विपरीत भारतीय गेंदबाज ने इस बार अच्छी शुरुआत की. भुवनेश्वर और शमी ने हालात का अच्छा इस्तेमाल करते हुए सलामी बल्लेबाजों को कसी गेंदबाजी की. शमी ने दो मेडन ओवर से शुरुआत की जिससे पहले पांच ओवरों में केवल 10 रन जुड़े.

जेसी राइडर (17 रन) ने दबाव कम करने की कोशिश की, लेकिन ऐसा करते हुए आठवें ओवर में अपना विकेट गंवा बैठे. अंजिक्य रहाणे ने गली में दूसरे प्रयास में उनका कैच लपका. पहले 10 ओवर में सिर्फ 31 रन बने, मार्टिन गुप्टिल (16 रन, 35 गेंद, दो चौके) इसके तुरंत बाद आउट हो गये. 13वें ओवर में आरोन की गेंद पर शमी ने उनका कैच लिया. इस गेंदबाज ने राहत की सांस ली क्योंकि इससे पहले उसने गुप्टिल का कैच छोड़ दिया था, तब वह नौ रन पर थे.

लेकिन टेलर और विलियम्सन ने मध्य के ओवरों में भारतीय गेंदबाजों को छकाते हुए 151 गेंद में 152 रन अटूट साझेदारी कर बड़े स्कोर की नींव रखी. इन दोनों ने 37वें ओवर में यह साझेदारी कर ली थी.

इस दौरान विलिम्यसन ने श्रृंखला में अपना लगातार पांचवां और वनडे में ओवरआल 11वां अर्धशतक जड़ा. इस तरह उन्होंने पाकिस्तान के यासिर हमीद की 2003 में न्यूजीलैंड के खिलाफ उपलब्धि की बराबरी की और ऐसा करके वह यह कारनामा करने वाले दूसरे बल्लेबाज बन गये. विलिम्यसन आरोन की गेंद पर रहाणे को कैच दे बैठे और एक बार फिर शतक से चूक गये.

ब्रैंडन मैकुलम 23 रन बनाकर विराट कोहली की गेंद पर रोहित को कैच देकर पवेलियन पहुंचे. टेलर ने इसके बाद श्रृंखला में लगातार दूसरा और ओवरआल 10वां शतक पूरा किया. वह हैमिल्टन में चौथे वनडे में 112 रन बनाकर नाबाद रहे थे. उन्होंने यह उपलब्धि 48वें ओवर में पूरी की. वह इसके तुरंत बाद शमी की गेंद पर डीप में कैच देकर आउट हो गये.

युवा जेम्स नीशाम ने इसके बाद जिम्मेदारी संभाली, उन्होंने 19 गेंद में तीन चौके और दो छक्के से 34 रन बनाये और न्यूजीलैंड को 300 रन का आंकड़ा पार कराया. 23 वर्षीय नीशाम ने 50वें ओवर में शमी पर 17 रन जुटाये। ल्यूक रोंची भी 11 रन बनाकर उनके साथ नाबाद रहे. डेथ ओवरों में भारतीय गेंदबाज ठीक थी, लेकिन आखिर में तेजी से देने से टीम ने अंतिम 10 ओवरों 91 रन गंवा दिये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *