कुछ लोग दुनियाभर में खराब कर रहे हैं देश की छवि: पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को एक बार फिर विपक्ष पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि कुछ लोग दुनियाभर में देश की छवि खराब कर रहे हैं, जबकि दूसरी तरफ प्रवासी भारतीय देश को गौरवान्वित कर रहे हैं. प्रधानमंत्री अमेरिका के सौराष्ट्र पटेल सांस्कृतिक समाज के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित कर रहे थे. नरेंद्र मोदी ने लौह पुरुष सरदार पटेल को याद करते हुए कहा कि पटेल ने अपने जीवन को देश की अखंडता और एकता के लिए समर्पित कर दिया, बावजूद इसके उनके काम को कुछ लोगों ने अपने निजी स्वार्थ की खातिर कभी उज़ागार नहीं होने दिया.

सौराष्ट्र पटेल कल्चरल समाज को संबोधित करते हुए विपक्ष को आड़े हाथ लेते हुए पीएम ने कहा कि कुछ लोग भारत को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन भारत के प्रवासी भारतीय देश के गौरव को बढ़ा रहे हैं और वह देश के स्थाई राजदूत हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरदार पटेल ने देश की एकता, अखंडता के लिए जीवन समर्पित किया, बावजूद इसके कुछ लोगों ने उनके योगदान को निजी स्वार्थ के लिए कभी उजागर नहीं होने दिया. पीएम ने कहा कि सरदार पटेल की स्टेच्यू ऑफ यूनिटी 31 अक्टूबर तक बनकर तैयार होगी और यह प्रतिमा दुनिया की सबसे बड़ी स्टैच्यू होगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने सौराष्ट्र के पटेल समुदाय को संबोधित करते हुए उन्हें देश में पर्यटन को बढ़ावा दने के लिए हर एक प्रवासी भारतीय को 5 विदेशी परिवारों को भारत आने के लिए प्रेरित करने की अपील की. प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत से भी देश में पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा मिल रहा है. आर्थिक मोर्चे पर पीएम ने कहा कि जीएसटी से व्यापार करने में पारदर्शिता आई है. साथ ही पीएम ने कहा कि देश में उड़ान योजना आने के बाद क्षेत्रीय संपर्क बढ़ा है और 900 नए हवाई जहाज खरीदे जा रहे हैं.

पीएम ने कहा कि भारत वैश्विक शक्ति के तौर पर उभर रहा है और जलवायु परिवर्तन को रोकने के लिए जो कदम भारत ने उठाए हैं, पूरी दुनिया ने उसकी सरहाना की है.

पीएम ने सौराष्ट्र पटेल कल्चरल समाज को संबोधित करते हुए प्रवासी भारतीयों को भारत का स्थाई राजदूत बताया और कहा कि नए भारत के निर्माण में उनका भी अहम योगदान है.

पीएम 31 अक्टूबर को करेंगे स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी का अनावरण

इस साल 31 अक्टूबर को सरदार पटेल की जयंती पर गुजरात के नर्मदा जिले में साधु हिल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरदार पटेल की भव्य प्रतिमा का अनावरण करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस ड्रीम प्रोजेक्ट स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को समय से पूरा करने के लिए इन दिनों रात-दिन काम चल रहा है.

गुजरात में नर्मदा जिले के केवडिया में साधु टेकरी पर स्टेच्यू ऑफ यूनिटी का काम 80 प्रतिशत तक पूरा हो गया है. 182 मीटर यानि 597 फीट ऊंची सरदार वल्लभ भाई पटेल की ये प्रतिमा विश्व की सबसे विशाल प्रतिमा कहलाएगी. 2,989 करोड़ रुपये के इस प्रोजक्ट के लिए गुजरात सरकार ने भी बजट में 899 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है.

कांस्य धातु से बनाई जा रही इस प्रतिमा के फाउंडेशन से लेकर 182 मीटर के पिलर्स तैयार हो गए हैं. इसमें लगभग 68 हजार मीट्रिक टन कंक्रीट और 5,700 मीट्रिक टन मोटी और पतली सरिया का इस्तेमाल किया गया है. अब इस पर शरीर के ढांचे में फ्रेमिंग कर अन्य धातुओं को लगाया जाएगा.