कृषि मंत्री श्री बिसेन ने हट्टा मवेशी बाजार में मारा छापा

Tatpar 03/02/2014

ठेकेदार हुआ मौके से फरार, 33 हजार 435 रु. की राशि की गई जप्त
किसानों एवं पशुपालकों से मवेशी बाजार में पशुओं की खरीदी-बिक्री के दौरान बाजार ठेकेदारों द्वारा की जाने वाली अवैध वसूली पर म.प्र. शासन के किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने सख्त रूख अपना लिया है और छापामार शैली में मेवेशी बाजार का आकस्मिक निरीक्षण करने लगे है। लालबर्रा के मवेशी बाजार का आकस्मिक निरीक्षण करने के बाद उन्होंने  31 जनवरी 2014 को अचानक हट्टा के मवेशी बाजार में धावा बोल दिया।
कृषि मंत्री श्री बिसेन को हट्टा के मवेशी बाजार में देखकर लालबर्रा बाजार की तरह यहां का बाजार ठेकेदार बृजेश कुमार बुरडे भी मौके से फरार हो गया। मौके पर चावड़ी(ठेकेदार के बैठने का स्थान) से तीन कटी हुई रसीद बुक और सात बिना कटी हुई रसीद बुक तथा 33 हजार 435 रु. की नगद राशि बरामद हुई। इस दौरान जांच में पाया गया कि ठेकेदार द्वारा दिनांक 31 जनवरी 2014 की तिथि में कुल 87 रसीदें पशुओं की खरीदी-बिक्री के शुल्क की काटी गई है, जिनकी राशि मात्र 3925 रु. होती है। इस प्रकार बाजार ठेकेदार द्वारा किसानों और पशु मालिकों से 29 हजार 510 रु. की अवैध वसूली किया जाना पाया गया है।
कृषि मंत्री श्री बिसेन ने चावड़ी से जप्त की गई राशि और कटी हुई एवं बिना कटी हुई रसीद बुक दो गवाहों के समक्ष हट्टा के थाना प्रारी सुदर्शन टोप्पो के सुपुर्द कर दी। इस दौरान उन्होंनें किसानों एवं पशुपालकों से कहा कि वे मवेशी की खरीदी-बिक्री के दौरान शासन द्वारा निर्धारित शुल्क से अधिक राशि न दें। जो कोई भी ठेकेदार किसानों एवं पशुपालकों से अधिक राशि वसूल करेगा उसके खिलाफ थाने में प्रकरण दर्ज कर उसे जेल भेजा जायेगा। उन्होंने किसानों एवं पशुपालकों से कहा है कि शासन द्वारा निर्धारित शुल्क से अधिक राशि लेने वाले ठेकेदारों की शिकायत क्षेत्र के तहसीलदार, एस.डी.एम. एवं थाना प्रभारी को करें और शिकायत की एक प्रति उन्हें भी दें।
कृषि मंत्री ने हट्टा के कन्या छात्रावास का किया निरीक्षण
कन्या छात्रावास को 50 सीटर करने की घोषणा
म.प्र. शासन के किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने 31 जनवरी 2014 की रात्री में हट्टा के प्री मेट्रिक अनुसूचित जाति कन्या छात्रावास का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने छात्रावास में रहने वाली छात्राओं से उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी ली।
कृषि मंत्री श्री बिसेन को छात्राओं ने बताया कि यह छात्रावास मात्र 20 सीटर है। छात्रावास की क्षमता कम होने के कारण उनकी कुछ सहेलियों को छात्रावास मे प्रवेश नहीं मिला पाया है। छात्राओं ने कहा कि यदि इस छात्रावास को 50 सीटर कर दिया जाये तो अधिक बालिकाओं को इसमें प्रवेश मिल सकेगा और गरीब परिवारों की छात्राओं को शिक्षा के लिए बेहतर सुविधा मिलने लगेगी।
मंत्री श्री बिसेन ने छत्राओं की समस्या को सुनने के बाद उन्हें आश्वस्त किया कि अगले शिक्षण सत्र से इस छात्रावास को 20 सीटर से बढ़ाकर 50 सीटर कर दिया जायेगा। इसके लिए शीघ्र ही आवश्यक कार्यवाही प्रारं कर दी जायेगी। मंत्री श्री बिसेन ने इस दौरान छात्राओं के पढ़ाई का स्तर पता करने के लिए उनसे कुछ सवाल ी पूछे तो छात्राओं ने ी सवालों के सही जवाब देकर बता दिया कि वे ी किसी से कम नहीं है।
छात्रावास के निरीक्षण के दौरान अधीक्षिका छात्रावास में मौजूद थी। छात्रावास में अंशकालिक दर पर कार्य करने वाली महिला पुष्पा बाई ने बताया कि उसे 4 माह से मानदेय नहीं मिला है। इस पर मंत्री श्री बिसेन ने सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को निर्देशित किया है कि वे पुष्पा बाई को मानदेय का शीघ्र भुगतान सुनिश्चित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *