केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा- जनता का हक मार रही है गहलोत सरकार

जोधपुर के सांसद और केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने एक बार फिर राजस्थान सरकार पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जिन्होंने जनता का हक मारने का काम किया है, विपक्ष के रूप में मेरी जिम्मेदारी है कि मैं उन्हें चौराहे पर खड़ा करूं। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शेखावत जोधपुर की मीडिया से रू-ब-रू हुए। भारतीय जनता पार्टी मीडिया विभाग की ओर से आयोजित इस वार्ता में आयुषमान भारत योजना का लाभ राज्य के लोगों का न मिलने के सवाल पर शेखावत ने कहा कि राजस्थान ही एक ऐसा राज्य है, जहां जनता इससे वंचित है।

अशोक गहलोत सरकार ने योजना का नाम बदलने की कोशिश भी की, लेकिन जनता को लाभ नहीं दिया। विडंबना तो यह है कि आयुष्मान भारत योजना के तहत एम्स जोधपुर में तमिलनाडु तक से कैंसर का इलाज कराने मरीज आते हैं, लेकिन राजस्थान के लोग वंचित हैं। अब तो स्थिति यह है कि राज्य सरकार को अपने लिए कोई बीमा कंपनी नहीं मिल रही है। उन्होंने कहा कि जनता सब देख रही है। एक-एक चीज का हिसाब मांगने वाली है।

जो मिला वो पैसा भी खर्च ही नहीं कर पाए

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के केंद्र सरकार से आर्थिक मदद न मिलने के आरोपों को नकारते हुए शेखावत ने कहा कि महामारी के इस समय में जैसे राज्यों की आय घटी है, वैसा ही केंद्र को नुकसान हुआ है। इसके बावजूद केंद्र ने पूरी मदद की है। बजट में घोषित 2500 करोड़ रुपए राजस्थान को दिए गए हैं। यदि आज के हालात से आकलन होता तो यह राशि 500 करोड़ ही बैठती, लेकिन विडंबना यह है कि जो पैसा राजस्थान को मिला है, उसका बड़ा हिस्सा वो खर्च ही नहीं कर रहा है।

राजस्थान के 20 लाख लोगों ने पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया है, जबकि आए केवल 1.5 लाख लोग है, अन्य लोग कैसे आएंगे, के सवाल पर शेखावत ने कहा कि मैंने व्यक्तिगत रूप से कर्नाटक, आंध्र प्रदेश समेत कई प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की है। मुंबई, बेंगलूरु समेत दूसरे शहरों में कार्यरत संघों से वार्ता हुई है। हम सभी लोगों की घर वापसी सुनिश्चित कराने का प्रयास कर रहे हैं।

जो सेक्टर बच गए हैं, उनकी सरकार मदद करेगी

कोरोना के कारण अवसादग्रस्त हो रहे लोगों के संबंध में उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसे लोगों की जानकारी दी जाए, वो अपने परिचित मनोवैज्ञनिक दोस्तों से मदद कराएंगे। केंद्रीय मंत्री ने टूरिज्म सेक्टर को लेकर केंद्रीय वित्त मंत्री से बातचीत की जानकारी भी दी। उन्होंने कहा कि 20 लाख करोड़ के पैकेज के अलावा और भी मदद आगे की जानी है। जो सेक्टर बच गए हैं, उनकी सरकार मदद करेगी। शेखावत ने आत्मनिर्भर पैकेज की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एमएसएमई को जो 3 लाख करोड़ का पैकेज मिला है, उसी में छोटे व्यापारी भी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *