कॉलेजों में मोदी की स्पीच के टेलिकास्ट पर ममता की रोक, BJP बोली- ये दुर्भाग्यपूर्ण

नई दिल्ली.नरेंद्र मोदी 11 सितंबर को देश की सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के स्टूडेंट्स को स्पीच देंगे। इसके लिए यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (UGC) ने इसके लाइव टेलिकास्ट का ऑर्डर दिया है। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने इसका विरोध किया है। उन्होंने राज्य की सभी यूनिवर्सिटी से कहा कि मोदी की स्पीच सुनने-देखने के लिए कोई जरूरी इंतजाम नहीं किए जाएं। बीजेपी ने इस फैसले को लोकतंत्र के लिए दुर्भाग्यपूर्ण और असहनीय बताया है।
राज्य सरकार का फैसला चौंकाने वाला…
– बीजेपी स्पोक्सपर्सन नलिन कोहली ने कहा, ”ये ममता सरकार का दुर्भाग्यपूर्ण और चौंकाने वाला फैसला है। संघीय व्यवस्था में पीएम सबसे ऊपर होता है। क्या किसी राज्य के सीएम को हक है कि वो केंद्र के ऑर्डर को नहीं माने और स्टूडेंट्स के लिए पीएम की स्पीच पर रोक लगा दे। आप (ममता बनर्जी) पश्चिम बंगाल की चुनी हुईं सीएम हैं। लोकतंत्र में ऐसा बर्ताव असहनीय है।”
– दूसरी ओर, बीजेपी नेता सुदेश वर्मा ने पश्चिम बंगाल सरकार के फैसलों को मूर्खतापूर्ण करार दिया। उन्होंने कहा, ”स्वामी विवेकानंदसे जुड़ा कोई प्रोग्राम राष्ट्रभक्ति को बढ़ाएगा। इस मौके पर पीएम की स्पीच को टेलिकास्ट से रोकना ममता बनर्जी की अच्छी सोच नहीं है।”
मोदी क्यों दे रहे हैं स्पीच?
 – पीएम की स्पीच को लेकर यूजीसी ने देश के 40 हजार यूनिवर्सिटी और कॉलेजों को टेलिकास्ट के लिए सर्कुलर जारी किया है। इसमें मुताबिक, सभी स्टूडेंट और टीचर 11 सितंबर को यंग इंडिया-न्यू इंडिया पर मोदी की स्पीच जरूर सुनें। लाइव टेलिकास्ट के लिए कॉलेजों को सभी जरूरी इंतजाम पहले से करने का ऑर्डर भी दिया है।
– कहा जा रहा है कि इस दौरान पीएम यंग इंडिया के लिए विवेकानंद की सीखों पर बात कर सकते हैं। इसके लिए एचआरडी मिनिस्ट्री ने एक लिंक जारी किया है, जहां लाइव स्पीच सुनी जा सकती है।
ऑर्डर मानने से ममता का इनकार
– सीएम ममता बनर्जी ने यूजीसी का ऑर्डर मानने से इनकार कर दिया है। एचआरडी मिनिस्ट्री के सूत्रों की मानें तो ममता सरकार ने पश्चिम बंगाल की सभी यूनिवर्सिटी और इंस्टीट्यूट्स से कहा है कि वे 11 सितंबर को पीएम की स्पीच टेलिकास्ट करने के लिए यूजीसी का कोई ऑर्डर नहीं मानें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *