गांव-गांव तक योजनाओं का लाभ पहुंचाने में भागीदारी निभाएं -मुख्यमंत्री

Tatpar 3 Sep 2013

जयपुर, मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने नागरिकों का आह्वान किया है कि वे राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ आम-जन तक पहुंचाने में भागीदारी निभाने के साथ इस बात का भी ध्यान रखें कि कोई भी हकदार व्यक्ति योजनाओं से वंचित न रहे।

मुख्यमंत्री मंगलवार को यहां अपने राजकीय निवास पर सुमेरपुर विधानसभा क्षेत्र से बड़ी संख्या में आए ग्रामीणों को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर ”सुमेरपुर विधान सभा क्षेत्र लगातार प्रगति के पथ पर ” पुस्तिका का विमोचन भी किया। पर्यटन कला एवं संस्कृति मंत्री श्रीमती बीना काक ने मुख्यमंत्री को पुस्तिका की प्रति भेंट की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के कई बड़े फैसले से राजस्थान प्रगति के पथ पर तेज गति से अग्रसर हो रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री विशेष सम्मान पेंशन योजना, मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना, मुख्यमंत्री नि:शुल्क जांच योजना, राजस्थान जननी शिशु सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री पशुधन नि:शुल्क दवा योजना, मुख्यमंत्री ग्रामीण बीपीएल आवास योजना आदि महत्वपूर्ण योजनाएं लागू की गई हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के साथ-साथ आमजन भी योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के साथ इसका लाभ आम नागरिकों तक पहुंचायें।

मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से कहा कि वे राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत श्रमिकों का पंजीयन कराएं जिससे उन्हें किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर फायदा मिल सके। उन्होंने कहा कि वे गांव-गांव में मजदूरों का इस संबंध में आवेदन भरवाकर पंजीयन कराए। श्री गहलोत ने कहा कि पंजीकृत असंगठित निर्माण श्रमिक की दुर्घटना में मृत्यु होने पर मुआवजा राशि 75 हजार रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दी गई है।

इस अवसर पर कला एवं संस्कृति मंत्री श्रीमती बीना काक ने कहा कि इस पुस्तिका में सुमेरपुर विधानसभा क्षेत्र में योजनाओं की क्रियान्विति का पंचायतवार लेखा-जोखा प्रस्तुत किया गया है तथा सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी गई है। इसके साथ ही फोटोग्राफी के माध्यम से ग्रामीण परिवेश का चित्रण भी प्रस्तुत किया गया है।