गोमती र‍िवर फ्रंट स्कैम में सीएम योगी आद‍ित्यनाथ ने द‍िए सीबीआई जांच के आदेश

लखनऊ.यूपी के सीएम योगी आद‍ित्यनाथ ने गोमती र‍िवर चैनलाइजेशन प्रोजेक्ट स्कैम में सीबीआई जांच के आदेश द‍िए हैं। बता दें, अखिलेश सरकार के इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट को लेकर सरकार की खन्ना समिति ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी।
केंद्र को भेजा जाएगा लेटर…
– प्र‍िंस‍िपल सेक्रेटरी इन्फॉर्मेशन अवनीश अवस्थी ने tatparpatrika.com से बातचीत में बताया कि रिवर फ्रंट घोटाले में सीएम ने सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं। जल्द ही इससे संबंधित लेटर केंद्र को भेजा जाएगा।
– बता दें, साल 2014-15 में गोमती नदी चैनलाइजेशन प्रोजेक्ट के लिए 656 करोड़ रुपए की धनराशि आवंटित की गई थी, लेकिन इस पर 1513 करोड़ रुपए खर्च हुए। इस राशि का 95 फीसदी हिस्सा खर्च होने के बावजूद प्रोजेक्ट का सिर्फ 60 फीसदी काम पूरा हुआ।
मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में बनाई गई सम‍ित‍ि
– सीएम ने रिवर फ्रंट का दौरा करने के बाद जांच शुरू कराई थी। उन्होंने प्रोजेक्ट की जांच के ल‍िए जस्ट‍िस आलोक सिंह की अध्यक्षता में एक जांच समिति बनाई थी। जांच समिति की रिपोर्ट में दोषी पाए गए अफसरों पर कार्रवाई करने के लिए नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में एक समिति बनाई गई।
– खन्ना समिति ने शुक्रवार को अपनी रिपोर्ट सीएम को सौंप दी। रिपोर्ट सौंपने से पहले समिति ने इस प्रोजेक्ट से जुड़े टॉप अफसरों का भी पक्ष लिया था। सूत्रों के मुताबिक, पर्सनल म‍िन‍िस्ट्री को प्रोफार्मा भेजने के लिए हाई लेवल पर रिपोर्ट की टेस्ट‍िंग का काम शुरू हो गया है।
– प्रोजेक्ट को पूरा करने के 350 करोड़ रुपए जारी करने और सिंचाई, जल निगम और पर्यावरण विभाग के अफसरों पर कार्रवाई की भी रिकमेंडेशन की गई है। समिति ने न्यायिक जांच में दोषी पाए गए किसी भी अफसर को बरी नहीं किया है।
प्रोजेक्ट को पूरा क‍िया जाए: सीएम का फैसला
– प्रोजेक्ट में अब तक अरबों रुपये खर्च हो जाने की वजह से सीएम ने ये फैसला ल‍िया है कि इसको पूरा किया जाए, लेकिन इसकी क्वाल‍िटी में कोई कोताही न बरती जाए। कार्रवाई निर्धारण समिति ने जनहित में प्रोजेक्ट को पूरा करने पर जोर दिया है।
– गोमती में गिर रहे नालों के पानी का शोधन करने के लिए 350 करोड़ की राशि जारी करने की र‍िकमेंडेशन की गई है। कम पैसे में प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट्स की राय ली जा रही है।
रिवट फ्रंट प्रोजेक्ट में ये है खास
इस परियोजना के तहत देश में पहली बार ईको-फ्रेंडली ग्रीन रिवर तैयार की गई है।
गोमती रिवर फ्रंट का काम ईको फ्रेंडली ग्रीन थीम पर बेस्ड है।
इसे लंदन की टेम्स नदी के आधार पर डेवलप किया गया है।