चार साल में बड़े पैमान पर युवाओं के लिये रोजगार सृजित हुए हैं: गिरिराज सिंह

मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियाँ गिनाने की कड़ी में दिल्ली में बुधवार को सूक्ष्म ,लघु,और मध्यम मंत्रालय ने अपने मंत्रालय की उपलब्धियाँ गिनाई। इस मौके पर केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि मंत्रालय ने चार साल में बड़े पैमान पर युवाओं के लिये रोजगार सृजित किये हैं।

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सूक्ष्म, लघू एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय के चार साल की उपलब्धियों का लेखा जोखा पेश किया। एक पत्रकार सम्मेलन में  गिरिराज सिंह ने कहा कि मंत्रालय ने तकरीबन देश के हर कोने में हर वर्ग के लोगों को रोजगार मुहैय्या करवाया है। उहोंने कहा कि यूपीए सरकार में 17 फैसिलिटी सेंटर थे ,जबकि एनडीए सरकार ने सिर्फ चार वर्ष में 94 केंद्र बनाए हैं।
गिरिराज सिंह ने कहा कि मंत्रालय ने छोटे कारोबारियों को रॉ मेटेरियल से लेकर बाजार तक उपलब्ध कराने में अहम भूमिका निभाई है। मंत्रालय के इस कदम से युवाओं को बड़े पैमाने पर रोजगार भी मिला है।
सूक्ष्म,लघु और मध्यम मंत्रालय ने चार सालों में खादी और ग्रामोद्योग को पुनर्जीवन दिया। ग्रामोद्योग के व्यवसाय में 67 फीसदी जबकि खादी की बिक्री में 80 फीसदी की रिकार्ड तोड़ बढ़ोत्तरी हुई। कुल 57 हज़ार करोड़ का खादी में मार्केंटिंग हुई।
सूक्ष्म,लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय बड़े उद्योगों की तुलना में कम पूँजीगत लागत पर रोजगार के बड़े अवसर प्रदान करते हैं। सूक्ष्म,लघु और मध्यम उद्योग क्षेत्र ने देश में लगभग 11.10 करोड़ रोजगार सृजित किये हैं। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत 14.75 लाख लोगों को रोजगार दिया गया। बैंकों ने उद्योग लगाने के लिये 1 लाख 60 हज़ार करोड़ रुपये ऋण दिये। जबकि कौशल विकास और प्रशिक्षण के लिये मंत्रालय ने बहुत मेहनत की। सोलर चरखा मिशन का शुभारंभ 27 जून को राष्ट्रपति करेंगे,जिससे  रोजगार के द्वार खुलेंगे।