चीन ने पहली बार भारत को दिखाए अपने हथियार, अर्जुन टैंक की तारीफ की

बीजिंग. चीन की सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारत की तरफ दोस्ताना रुख दिखाते हुए पहली बार भारतीय मीडिया के लिए अपने दरवाजे खोल दिए। यही नहीं, चीन ने पहली बार भारत के मुख्य जंगी टैंक अर्जुन की तारीफ की है। चीनी सेना के टॉप कमांडर ने सोमवार को अर्जुन टैंक को ‘बहुत अच्छा’ कहा। भारतीय पत्रकार चीनी सरकार से जुड़े ऑल चाइना जर्नलिस्ट एसोसिएशन के न्योते पर गए हैं।
सीनियर कर्नल ने अर्जुन टैंक की तारीफ की
चीन ने पीएलएल के एकेडमी ऑफ आर्म्ड फोर्सेज इंजीनियरिंग के डिप्टी कमांडर सीनियर कर्नल लि डेगांग ने अर्जुन टैंक की तारीफ करते हुए उसे भारतीय हालात के लिए बेहतर बताया। चीन में ऐसी 16 एकेडमी में पीएलए की मेकैनिकल डिविजन में काम करने वाले फौजी तैयार किए जाते हैं।
भारतीय पत्रकारों ने देखा चीनी टैंक 96ए
भारतीय पत्रकारों को पहली बार एकेडमी में चीन के मुख्य जंगी टैंक 96ए, एंटी टैंक मिसाइल्स लॉन्चर टी-89, बख्तरबंद गाड़ियां देखने को मिलीं।
तिब्बत बॉर्डर पर होती है टेस्टिंग
एकेडमी में ही पता चला कि चीन में जमीन पर ऑपरेट होने वाले सैन्य साजो-सामान की तिब्बत के मुश्किल भरे हालात में टेस्टिंग की जाती है।
दुनिया की सबसे बड़ी फौज है पीएलए
23 लाख जवानों से लैस पीएलए को दुनिया की सबसे बड़ी सेना माना जाता है। हाल के बरसों में पीएलए के आधुनिकीकरण पर जोर दिया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *