चीन में आतंकी कनेक्शन के आरोप में 20 टूरिस्ट गिरफ्तार, भारतीय भी शामिल

बीजिंग। उत्तरी चीन में संदिग्ध आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में 20 विदेशी टूरिस्ट्स को गिरफ्तार किया गया है। इनमें ब्रिटिश, दक्षिण अफ्रीकी टूरिस्ट्स के अलावा एक भारतीय नागरिक भी शामिल है। ब्रिटेन के विदेश विभाग और एक दक्षिण अफ्रीकी चैरिटी ग्रुप ने इसकी पुष्टि की है। विदेश विभाग के मुताबिक, इन टूरिस्ट्स को एक आतंकी ग्रुप से रिश्ते होने के शक में पकड़ा गया।
चीनी प्रशासन ने बताया कि सभी संदिग्ध होटल के रूम में एक प्रतिबंधित ग्रुप का प्रोपेगैंडा वीडियो देख रहे थे। दक्षिण अफ्रीकी संगठन ‘गिफ्ट ऑफ द गिवर्स’ फाउंडेशन ने बताया कि चीन गिरफ्तार किए गए संदिग्धों में से 11 को रिहा करने पर राजी हो गया है। लेकिन, बाकियों को मंगोलिया के एक डिटेंशन सेंटर में रखा जाएगा। पांच दक्षिण अफ्रीकी, तीन ब्रिटिश और एक भारतीय नागरिक को रोक लिया गया है, जबकि 11 अन्य को रिहा किया जाएगा।
चैरिटी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए कई टूरिस्ट्स टेलिकॉम कंपनी वोडाकॉम ग्रुप लिमिटेड के चीफ एग्जीक्यूटिव शमील जोसुब के रिश्तेदार हैं।
ब्रिटिश फॉरेन ऑफिस के प्रवक्ता ने बताया, “इस ग्रुप की मदद के लिए काउंसलर स्टाफ को भेजा गया है। हम चीनी प्रशासन से बात कर रहे हैं।”
47 दिनों के ट्रिप पर था ग्रुप
शुरुआती रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह ग्रुप 47 दिनों की ट्रिप पर था। इन्हें मंगोलिया के इरडोस शहर के एजिन होरो एयरपोर्ट पर गिरफ्तार किया गया। टूरिस्ट्स से संपर्क न होने पर उनके टूर ऑपरेटर को किसी अनहोनी की आशंका हुई और उसने ब्रिटिश सरकार को इसकी जानकारी दी।
गिरफ्तार लोगों को क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं
टूरिस्ट्स की रिहाई के लिए चीनी प्रशासन से बातचीत कर रहे ‘गिफ्ट ऑफ द गिवर्स’ फाउंडेशन ने बताया, “इन लोगों का किसी आतंकी संगठन से कोई कनेक्शन नहीं है और न ही इनका क्रिमिनल रिकॉर्ड है।”