जनता कर्फ्यू के दिन 3500 से ज्यादा ट्रेनें और कई फ्लाइट्स रहेंगी कैंसल, IRCTC की फूड सर्विस, किचन रहेंगे बंद

जनता कर्फ्यू के लिए देशभर में लोगों ने कमर कसनी शुरू कर दी है। सरकारी विभाग से लेकर प्राइवेट कंपनियों तक ने रविवार को कोरोनावायरस के खिलाफ जंग के लिए पीएम के घर में रहने के आह्वान पर तैयारियां शुरू कर दी हैं। जनता कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए रेलवे ने शनिवार देर रात से लेकर रविवार रात तक 3500 ट्रेनें रद्द करने का फैसला किया है। दूसरी तरफ दिल्ली, बेंगलुरु और जयपुर में रविवार को मेट्रो सेवा पूरे दिन के लिए बंद रहेगी। इसके अलावा विमानन कंपनी इंडिगो ने भी अपनी फ्लाइट्स कैंसल करने का फैसला किया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में देशवासियों से अपील की थी कि वे रविवार को अपने ऊपर खुद कर्फ्यू लगाएं और सुबह 7 बजे से लेकर रात 9 बजे तक घरों से बाहर न निकलें। पीएम ने कहा था कि कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में यह लोगों के आत्मअनुशासन का टेस्ट होगा। जिससे आगे आने वाली और कई लड़ाइयों की तैयारियों में मदद मिलेगी।

पीएम की इस अपील के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि जनता कर्फ्यू से देश में कोरोनावायरस संक्रमण फैलने की चेन टूटेगी। इसी को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने लंबी दूरी की करीब 1300 ट्रेन जो सुबह 4 से रात 10 बजे तक चलती हैं, उन्हें रविवार को रद्द करने का फैसला किया। इसके अलावा दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई और सिकंदराबाद में चलने वाली उपनगरीय ट्रेन सेवा भी कम से कम चलाई जाएंगी।

रेलवे के मुताबिक, 21 मार्च की आधी रात से लेकर 22 मार्च तक पैसेंजर ट्रेन सेवा पूरी तरह रोक दी जाएगी। इसके अलावा आईआरसीटीसी ने भी रेलवे स्टेशनों और उनके बाहर मौजूद अपने फूड प्लाजा, रिफ्रेशमेंट रूम्स और किचन को बंद करने फैसला किया है। इसके चलते मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में रविवार को कैटरिंग की सुविधा उपलब्ध नहीं रहेगी।

दिल्ली-बेंगलुरू में बंद रहेंगी मेट्रो सेवाएंः दूसरी तरफ कोरोनावायरस के मद्देनजर भीड़ रोकने के लिए दिल्ली मेट्रो सेवा भी रविवार को बंद रहेगी। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने बयान जारी कर कहा कि जनता कर्फ्यू के मद्देनजर रविवार को मेट्रो सेवाएं बंद रहेंगी। इसके जरिए लोगों को घर के अंदर रहने का बढ़ावा दिया जाएगा, ताकि वे सामाजिक दूरी भी बनाए रख सकें। इसके अलावा बेंगलुरू मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने भी दिल्ली मेट्रो की तरह ही सेवाएं बंद रखने का ऐलान किया है। मुख्यंत्री बीएस येदियुरप्पा ने 31 मार्च तक सभी बार और पब को भी बंद रखने के लिए कहा है। इसके अलावा राज्य में मौजूद रेस्त्रां को सिर्फ डिलीवरी सर्विस ही जारी रखने का आदेश है।

मणिपुर के इंफाल में बंद रहेंगे बाजार, हरियाणा रोडवेज बस नहीं चलाएगाः इसी बीच मणिपुर प्रशासन और शहरी विकास विभाग ने इंफाल घाटी में सभी बड़े बाजार बंद करने का फैसला किया है। यह बाजार शनिवार से लेकर अगले  दिन तक बंद रहेंगे। हरियाणा सरकार ने भी जनता कर्फ्यू के लिए रविवार को सुबह 7 से रात 9 बजे तक बसें बंद रखने का फैसला किया है। इसके अलावा राज्य में धारा 144 भी लगा दी गई है।

जनता कर्फ्यू को लेकर फैली झूठी अफवाहें, दिल्ली पुलिस ने किया खंडन

22 मार्च को आयोजित होने वाले जनता कर्फ्यू को लेकर कई तरह की झूठी अफवाहें फैल रहीं है। इसी के तहत सोशल मीडिया पर दिल्ली पुलिस का एक फर्जी नोटिस सर्कुलेट हो रहा है। जिसमें जनता कर्फ्यू के दिन किसी भी व्यक्ति के घूमता, दुकान खोलता पाया गया तो उस पर 11 हजार रुपए का जुर्माना लगेगा। अब दिल्ली पुलिस ने ऐसी किसी भी नोटिस से इंकार किया है और इसे फर्जी करार दिया है।

कर्नाटक में रविवार को होने वाले जनता कर्फ्यू के दौरान सभी रेस्टोरेंट और मेट्रो सेवाएं बंद रहेंगी। इनके अलावा सभी बार, शराब की दुकानें भी बंद रहेंगी। केवल फूड डिलीवरी सेवाएं ही जारी रहेंगी।

भारतीय रेलवे 21 मार्च की रात 12 बजे से लेकर 22 मार्च की रात 10 बजे तक पैसेंजर ट्रेन का संचालन बंद रखेगी। हालांकि इसके पहले और बाद में संचालित हुई ट्रेन सामान्य की तरह चलेगी। विमानन कंपनियों इंडिगो और गोएयर ने भी करीब 1 हजार उड़ाने कैंसल करने का फैसला किया है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को देश के नाम अपने संबोधन में रविवार यानि कि 22 मार्च को ‘जनता कर्फ्यू’ का आह्वान किया था। यह जनता कर्फ्यू सुबह 7 बजे से शुरु होकर रात 9 बजे तक चलेगा। यह जनता कर्फ्यू सभी पर लागू होगा और पीएम मोदी ने जनता कर्फ्यू के दौरान लोगों से अपने-अपने घर पर रहने की अपील की है। इमरजेंसी और जरुरी सेवाएं जारी रहेंगी।

जनता कर्फ्यू से एक दिन पहले सूनी हुईं दिल्ली-मुंबई की सड़कें

कोरोना के खौफ से दिल्ली में सन्नाटा पसरा है. कनॉट प्लेस से लेकर लाजपत नगर जैसे भीड़भाड़ वाले बाजार खाली हो गए हैं. मुंबई में अपने घर जाने के लिए कुर्ला रेलवे स्टेशन पर भीड़ उमड़ी है.