जीएसटी व्यवस्था के क्रियान्वयन को आज एक साल पूरा

वस्तु एवं सेवा कर यानि जीएसटी व्यवस्था के क्रियान्वयन को आज हो रहा है एक साल पूरा, कर सुधार की दिशा में उठाया गया सबसे बड़ा कदम, पिछले साल 30 जून को आया था अस्तित्व में, जीएसटी का मक़सद एक राष्ट्र, एक कर।

जीएसटी यानी वस्तु और सेवा कर की व्यवस्था के क्रियान्वयन को आज एक साल पूरा हो रहा है। पिछले साल 30 जून की मध्यरात्रि से अस्तित्व में आए जीएसटी से देश में एकीकृत कर प्रणाली लागू हुई। एक देश, एक कर के रूप में जीएसटी स्वतंत्र भारत के सबसे बड़े कर सुधार के रूप में सामने आया।

केन्द्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि जीएसटी के लागू होने से सरकार के राजस्व में महत्वपूर्ण बढ़ोत्तरी हुई है और अब लोगों को कर की कम राशि देनी पड़ती है। जबकि केन्द्रीय मन्त्री अरुण जेटली ने कहा कि काला धन खत्म करने, नोटबंदी और जीएसटी के कारण जमा कर राशि में काफी इज़ाफा हुआ है।