जून में तेज होगा संक्रमण, 18 लाख बेडशीट, 50 लाख दस्ताने खरीदेंगे; कोरोना से निपटने सरकार ने की बड़ी तैयारी

भोपाल. लॉक डाउन के चौथे चरण में भी कोरोना संक्रमण में कमी नहीं आ रही है। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने आशंका जाहिर की है कि कोविड-19 के सर्वाधिक प्रकरण जून मध्य में सामने आ सकते हैं। मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में उन्होंने यह अंदेशा जाहिर किया था। इसके बाद उस स्थिति से मुकाबले के लिए तैयारियां तेज कर दी गई हैं। कोरोना से जंग के लिए 1400 करोड़ रुपए के फंड के अलावा जिला खनिज फंड के इस्तेमाल की भी इजाजत दी गई है। अस्पतालों में बेड की संख्या एक लाख तक बढ़ाई जा रही है। सरकार 18 लाख बेडशीट खरीद रही है, जिसे इस्तेमाल कर फेंक दिया जाएगा। 50 लाख परीक्षण करने वाले दस्ताने भी खरीदे जा रहे हैं। सभी कलेक्टर्स को माइनिंग विभाग ने 19 मई को एक सर्कुलर भेजा है, जिनमें जिला खनिज फंड से पीपीई किट, मास्क, ऑक्सीजन समेत जरूरी सामानों की खरीदी करने को कहा गया है। आईसीयू भी तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं।

25 जिलों के खनिज फंड में 500 करोड़, 30% खर्च कर सकेंगे

आशंका… रेड जोन में बढ़ेंगे केस
स्वास्थ्य विभाग ने अपने अध्ययन में अनुमान लगाया है कि भोपाल, इंदौर, उज्जैन, बुरहानपुर, जबलपुर, खंडवा आदि रेड जोन में मरीज बढ़ेंगे। कलेक्टरों को कहा है कि सख्ती से लॉकडाउन का पालन कराएं। प्रवासियों की सख्त निगरानी करें।

फॉर्मूला… तीन बिंदुओं पर रिपोर्ट
मप्र सरकार ने एम्स के साथ एक मॉनिटरिंग टीम बनाई है, जिसने तीन बिंदु- एक आदमी अधिकतम कितनों को संक्रमित कर सकता है, जिलों में कितनी तेजी से दोगुने केस होंगे और जनसंख्या के आधार पर केस की क्या स्थिति बनेगी, इस पर रिपोर्ट तैयार की है। इसी आधार पर जून मध्य में केस तेजी से बढ़ने का अनुमान लगाया गया है।

17 जिलों में आईसीयू सुविधा नहीं 

सवाल : केस बढ़ने का अनुमान किस आधार पर लगाया? 
हम सिर्फ अपनी तैयारी कर रहे हैं, संक्रमितों की संख्या जून में बढ़ेगी, जुलाई में या अगस्त में, यह भी नहीं कह सकते, लेकिन कमी नहीं रखना चाहते।

सवाल- कम्युनिटी स्प्रेड की संभावना है?
इस बारे में कुछ नहीं कह सकते। इंदौर, उज्जैन में 2 महीने पहले से केस मिल रहे हैं, जबकि सिंगरौली में आज पहला केस मिला है।

सवाल- अब आप की स्ट्रेटेजी क्या?
25 जिलों में खनिज फंड के उपयोग की इजाजत है। सभी आईसीयू और बाकी सुविधाएं बढ़ाएं। 17 जिलों में आईसीयू की सुविधा ही नहीं है।

44 नए पॉजिटिव मिले, एक मौत

राजधानी में कोरोना के 44 नए मरीज मिले हैं। जबकि एक मरीज की मौत हो गई। 32 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं। शुक्रवार को 1006 सैंपल की रिपोर्ट आई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *