झारखंड में कौन बनेगा मुख्यमंत्री, सोनिया गांधी ने की चर्चा

झारखंड में झामुमो के साथ अगले लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन करने और प्रदेश में गठबंधन सरकार के गठन पर बातचीत अंतिम चरण में पहुंचने के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज एके एंटनी समेत कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ इस बारे में विचार विमर्श किया।

आज सुबह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया गांधी से मुलाकात की और उन्हें झामुमो से अब तक हुई बातचीत से अवगत कराया। अगले आम चुनाव के लिए गठबंधन बनाने के मुद्दे पर गठित उप समूह के अध्यक्ष एवं रक्षा मंत्री एके एंटनी, झारखंड मामलों के प्रभारी बी के हरिप्रसाद, कांग्रेस महासचिव शकील अहमद, प्रदेश कांग्रेस प्रमुख सुखदेव भगत और कांग्रेस विधायक दल के नेता राजेन्द्र सिंह इन नेताओं में शामिल हैं।

इससे पहले भगत, सिंह और प्रदेश के वरिष्ठ कांग्रेस नेता सरफराज अहमद ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद से मुलाकात की थी। सिंह ने कहा कि उन्हें शत प्रतिशत भरोसा है कि राजद झारखंड में नई सरकार का समर्थन करेगी। सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस ने इस बात पर सहमति व्यक्त की है कि प्रदेश में झामुमो का मुख्यमंत्री होगा। झामुमो इसके बदले कांग्रेस को लोकसभा की 14 सीटों में बड़ा हिस्सा देने पर राजी हो गई है।

शिबू सोरेन के पुत्र हेमंत सोरेन को प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री बनाये जाने के संकेत हैं। हेमंत सोरेन ने कल रात गठबंधन सरकार के बारे में राजद प्रमुख लालू प्रसाद के साथ बैठक की। लालू के साथ बैठक से कुछ ही घंटे पूर्व हेमंत सोरेन ने एंटनी और कांग्रेस अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल के साथ लम्बी चर्चा की। समझा जाता है कि इस बैठक में सरकार गठन की बारीकियों पर चर्चा हुई।

सूत्रों ने बताया कि नई सरकार में कोई उपमुख्यमंत्री नहीं होगा, जबकि कांग्रेस सरकार में शामिल होगी और उसे पांच से छह मंत्रालय मिल सकते हैं। सूत्रों ने बताया कि राजद को दो मंत्री पद मिलने की उम्मीद है, जबकि झामुमो को मुख्यमंत्री एवं चार मंत्री पदों से संतोष करना पड़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *