झारखंड में 42 सीटों के साथ भारतीय जनता पार्टी की सरकार

झारखंड में भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दल ऑल झारखंड स्‍टुडेंट्स यूनियन ने 81 सीटों वाली विधानसभा में 42 सीटें जीत कर स्‍पष्‍ट बहुमत प्राप्‍त कर लिया है। अब तक घोषित 80 परिणामों में से भाजपा ने 37 सीटें जीतीं हैं

, जबकि ऑल झारखंड स्‍टुडेंट्स यूनियन को पांच सीटें मिली हैं। झारखंड मुक्ति मोर्चा 19 सीटें जीतकर दूसरे स्‍थान पर है। झारखंड विकास मोर्चा प्रजातांत्रिक 8 सीटों पर विजयी रही है। कांग्रेस को पांच सीटें मिलीं हैं। जम्‍मू कश्‍मीर विधानसभा चुनाव के सभी 87 सीटों के नतीजे घोषित किए जा चुके हैं। पीपुल्‍स डेमोक्रेटिक पार्टी 28 सीटों के साथ सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है। भाजपा 25 सीटों के साथ दूसरे स्‍थान पर है। नेशनल कांफ्रेंस को 15 सीटें मिली हैं, जबकि कांग्रेस 12 सीटों पर विजयी रही है। अन्‍य के खाते में 7 सीटें गई हैं।

इन नतीजों के हिसाब से राज्‍य में त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति बन गई है, क्‍योंकि कोई भी पार्टी राज्‍य में सरकार बनाने के लिए जरूरी 44 सीटों के जादुई आंकड़े को नहीं छू सकी है।

जम्‍मू-कश्‍मीर में निवर्तमान मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला ने बीरवाह सीट जीत ली है जबकि सोनावर में हार गये हैं। उन्‍होंने वीरवाह में कांग्रेस उम्‍मीदवार नजीर अहमद को हराया लेकिन सोनावर में पीडीपी के मोहम्‍मद अशरफ मीर से हार गये। राज्‍य के वित्‍त मंत्री अब्‍दुल रहीम राठेर हारने वाले प्रमुख नेताओं में शामिल हैं। उन्‍हें चरारे शरीफ में पीडीपी के गुलाम नबी लोन ने हराया। विधानसभा चुनावों में 1977 के बाद राठेर की यह पहली हार है।