टीम इंडिया में फूट? कोहली ने धोनी की कप्तानी पर उठाए सवाल, रैना ने किया बचाव

नई दिल्ली: बांग्लादेश के खिलाफ वनडे सीरीज में लगातार दो मैच हारकर सीरीज गंवाने के बाद आखिरी मैच में 77 रन से जीत दर्ज करके टीम इंडिया ने थोड़ी इज्जत तो बचा ली, लेकिन ड्रेसिंग रूम में सब कुछ सामान्य नजर नहीं आ रहा। मैच से पहले दिए एक टीवी इंटरव्यू में जहां उप कप्तान विराट कोहली ने बिना नाम लिए धोनी की कप्तानी पर सवाल उठाए, वहीं सुरेश रैना ने मैच के बाद पत्रकारों से बातचीत में कप्तान का बचाव किया और कहा कि धोनी सम्मान के हकदार हैं। बता दें कि इससे पहले, आर अश्विन ने भी धोनी का बचाव करते हुए कहा था कि अगर उनके कप्तान चाहेंगे तो वह मैदान पर जान देने के लिए भी तैयार हैं। खिलाड़ियों की इस बयानबाजी से टीम इंडिया के अंदर गुटबाजी की आशंकाओं को बल मिला है।
क्या कहा कोहली ने
विराट कोहली ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा, ”हम फैसले लेने में कन्फ्यूज नजर आ रहे हैं और ऐसा मैदान पर भी दिख रहा है। मुझे यह खुद कहने की जरूरत नहीं है। क्रिकेट देखने वाले और प्रशंसक यह देख सकते हैं कि हम खुलकर नहीं खेल पा रहे। पहले दो मैचों में हमारा विजन साफ नहीं था और हम खुलकर नहीं खेल सके।”
क्या कहा रैना ने
मैच के बाद पत्रकारों से बातचीत में रैना ने कहा, “आप धोनी का अपमान नहीं कर सकते। एक सीरीज की हार उन्हें खराब कप्तान साबित नहीं करती। वह मानसिक तौर पर बहुत मजबूत हैं। वह खेल को जानते हैं और पॉजिटिव रवैये के साथ खेलते हैं। वह एक अच्छे शख्स और महान कप्तान हैं।”
क्या कहा था अश्विन ने
दूसरे मैच में मिली हार के बाद अश्विन ने पत्रकारों से बातचीत में कहा था, ”धोनी इस खेल के लेजेंड हैं। उन्होंने भारतीय क्रिकेट के लिए काफी कुछ किया है। अगर मेरे कप्तान मुझसे मैदान पर जान देने के लिए कहते हैं, तो ऐसा मैं करूंगा। आंकड़ों से आप जैसा चाहें साबित कर सकते हैं। आपको उस एक शख्स को क्रेडिट देना ही होगा, जिसने काफी सारी अच्छी चीजें की हैं। आप पूरी टीम के प्रदर्शन के लिए सिर्फ उन्हें दोषी करार नहीं दे सकते।”
धोनी के कोच ने की थी फूट की पुष्टि
धोनी के बचपन के कोच चंचल भट्टाचार्या कहा था कि धोनी को समर्थन नहीं मिल रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि धोनी अब कप्तानी छोडऩा चाहते हैं और सिर्फ एक खिलाड़ी के तौर पर खेलना चाहते हैं।