ट्रंप ने भारत को नशीली दवा बनाने और उनके पारगमन वाले 21 बड़े देशों में माना

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नशीली दवाओं का उत्पादन करने और उनके पारगमन वाले देशों में भारत को 21 अन्य देशों के साथ रखा है।
बड़े पैमाने पर मादक द्रव्य बनाने या उनके पारगमन वाले अन्य एशियाई देशों में अफगानिस्तान, पाकिस्तान और म्यामां को शामिल किया गया है।
राष्ट्रपति द्वारा निर्धारित किए गए इन समूहों में बहमास, बेलिज, बोलिविया, कोलंबिया, कोस्टा रिका, डोमिनिकन रिपब्लिक, इक्वाडोर, अल सल्वाडोर, ग्वाटेमाला, हैती, होंडुरस, जमैका, लाओस, मैक्सिको, निकारागुआ, पनामा, पेरु और वेनेजुएला शामिल हैं।
ट्रंप ने कहा, “उल्लेखित सूची में किसी देश की मौजूदगी जरूरी नहीं कि उसकी सरकार के मादक पदार्थ निरोधी प्रयासों या अमेरिका के साथ उनके सहयोग के स्तर को दिखाती है।”
ट्रंप ने कहा कि इस सूची में देशों को रखे जाने के पीछे के कारणों में भौगोलिक, व्यावसायिक और आर्थिक कारकों का मिश्रण है जिसके चलते नशीले पदार्थों का पारगमन या उनका उत्पादन होता है फिर भले ही कोई सरकार मादक पदार्थों के नियंत्रण संबंधी ठोस और सतत कदम क्यों न उठा रही हो।