अहमदाबाद. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आगामी 24 से 27 फरवरी के दौरान यहां मोटेरा स्टेडियम और गांधी आश्रम आने का कार्यक्रम प्रस्तावित है। इसलिए मोटेरा, चांदखेड़ा और साबरमती इलाके की एक-एक सोसाइटी की क्राइम ब्रांच द्वारा जांच की जाएगी। इन तीनों इलाकों में पिछले 5 महीने में रहने आए किराएदारों से भी पूछताछ की जाएगी। ‘केम छो ट्रम्प’ कार्यक्रम सितंबर 2019 में अमेरिका के ह्यूस्टन में हुए ‘हाउडी मोदी’ की तर्ज पर होगा।

इस दौरे के दौरान सभी स्थलों पर तीन स्तरों में सुरक्षा तैनात की जाएगी। 10 हजार से अधिक पुलिस जवानों को स्टेडियम, एयरपोर्ट, गांधी आश्रम पर सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा। ट्रम्प एयरपोर्ट से मोटेरा स्टेडियम तक हेलिकॉप्टर से पहुंचेंगे या सड़क से, यह अभी स्पष्ट नहीं है। लेकिन, पुलिस दोनों पहलुओं के अनुसार सुरक्षा व्यवस्था कर रही है। दौरे के दौरान सभी स्थलों पर सीसीटीवी लगाए जाएंगे। इसके अलावा जिस रूट से वे गुजरेंगे, उसके दोनों तरफ बम डिस्पोजल स्क्वॉड की ओर से एक-एक स्थल की जांच की जाएगी।


यूएस सीक्रेट सर्विस कहेगी, उसी तरह होगा सुरक्षा में बदलाव

प्रोटोकॉल के अनुसार एनएसजी और एसपीजी कमांडो तैनात रहेंगे। जिस तरह अमेरिकी सीक्रेट सर्विस कहेगी, उसी के अनुसार सुरक्षा में बदलाव किया जाएगा। इसके लिए भी फोर्स स्टैंड बाय रखी गई है।

थ्री लेयर में होगी सुरक्षा

  • ट्रम्प के दौरे के आसपास थ्री लेयर में सुरक्षा।
  • स्टेडियम, एयरपोर्ट, गांधी आश्रम की सुरक्षा में 10 हजार पुलिसकर्मी रहेंगे। 
  • सभी स्थलों के रोड पर सीसीटीवी लगाए जाएंगे। 
  • जिस-जिस रूट पर वे गुजरेंगे, उसके दोनों तरफ बम डिस्पोजल स्क्वॉड होंगे। 
  • आगामी 5 दिन में एनएसजी अहमदाबाद आएगी।
  • यूएस सीक्रेट सर्विस सुरक्षा की देखरेख करेगी।

तैयारी और सुरक्षा का प्लान, ये सवाल पूछे जाएंगे

  • कहां से आए, कब आए?
  • यहां क्या काम करते हो?
  • पहले कहां थे? क्या करते थे? 
  • परिवार में कौन-कौन है? 
  • जहां अब काम कर रहे हो उसके कोई दस्तावेज हैं? 
  • जहां पहले काम करते थे, उसके दस्तावेज हैं?

मोटेरा के अगल-बगल 5 किमी तक सड़क सफाई के लिए 3 टीम तैनात
मोटेरा स्टेडियम की चारों दिशाओं में करीब 5 किमी तक 17 नई सड़कों को बनाया जा रहा है। लगभग 22 करोड़ रुपए खर्च से इन सड़कों का काम चल रहा है। जैसे-जैसे सड़क बनती जा रही है, तुरंत उसकी सफाई के लिए तीन टीम तैनात की गई है। हरेक टीम में 10 कामगार रखे गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *