ट्रम्प को मोदी का जवाब, 30 अमेरिकी वस्तुओं पर टैरिफ बढ़ाने की तैयारी

अमेरिका और चीन के बीच चल रहे ट्रेड वॉर के बीच भारत ने 30 आइटम की एक संशोधित लिस्ट WTO को भेजी है. इस लिस्ट में मोटरसाइकिल, लौह और इस्पात सामान, बॉरिक एसिड और दालें शामिल हैं, जिन पर भारत टैरिफ (कस्टम ड्यूटी) बढाकर 50 फीसदी करना चाहता है. माना जा रहा है कि इस टैरिफ को बढ़ाने से अमेरिका पर बोझ बढ़ सकता है. इससे पहले अमेरिका ने भी भारत से एक्सपोर्ट होने वाली वस्तुओं पर टैरिफ रेट बढ़ा दिए थे, जिससे भारत पर बड़ा बोझ पड़ने की उम्मीद है.

अमेरिका ने स्टील और एल्यूमीनियम उत्पादों पर कस्टम ड्यूटी बढ़ा दी थी जिसके चलते भारत पर 241 मिलियन डॉलर का असर होगा. माना जा रहा है कि अमेरिका के इसी टैरिफ में बढ़ोतरी देखने हुए भारत ने ये कदम उठाया है.

इससे पहले मई में भारत ने बादाम, सेब और अमेरिका से आयातित कुछ मोटरसाइकिलों सहित 20 उत्पादों पर 100 प्रतिशत तक ड्यूटी को बढ़ाने का प्रस्ताव रखा था.

इससे पहले ट्रंप ने चीन से आयातित 50 अरब डॉलर के सामान पर शुल्क लगाने को मंजूरी दे दी. ट्रंप ने 50 अरब डॉलर के सामान पर 25 प्रतिशत शुल्क लगाने की घोषणा की. जिसके जवाब में चीन ने भी शुल्क बढ़ाने का फैसला किया है. दोनों देशों के इस कदम को दो बढ़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच टकराव के रूप में देखा जा रहा है.

भारत ने अब जिस सामानों पर ड्यूटी बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा है उनमे मोटर साइकिल भी शामिल है. जबकि पहले ही अमेरिकी मोटर साइकिल हार्ले डविड्सन पर ड्यूटी को लेकर ट्रंप भारत को खरी-खोटी सुना चुके हैं.