ड्रोन के जरिए पाक कर रहा हथियार सप्लाई, खालिस्तानी आतंकियों से पूछताछ में खुलासा

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने से बौखलाया पाकिस्‍तान अब पंजाब में माहौल खराब करने की कोशिश कर रहा है. गिरफ्तार खालिस्तानी आतंकवादियों ने पुलिस की पूछताछ में कबूला है कि पड़ोसी देश पंजाब में मानव रहित ड्रोन (Drone) के जरिए हथियारों की सप्लाई कर रहा है. आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए पंजाब के युवाओं का ही इस्तेमाल किया जा रहा है. हाल ही में खालिस्तान समर्थन दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है, जिन्होंने कई अहम खुलासे करके पुलिस और जांच एजेंसियों की नींद उड़ा दी है.   

अमृतसर में काउंटर इंटेलिजेंस डीएसपी बलबीर सिंह ने बताया कि 22 सितंबर को खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के 4 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था. आतंकवादियों से पूछताछ में पता चला कि 2 पाकिस्तानी ड्रोन अमृतसर जिले में दुर्घटनाग्रस्त हो गए हैं. खोजबीन करने पर ड्रोन के कुछ हिस्सों को बरामद किया गया है. बरामद ड्रोन की वहन क्षमता 5-6 किलोग्राम है.

Balbir Singh, DSP Counter Intelligence,in Amritsar:On 22Sept,4 terrorists of Khalistan Zindabad Force were arrested.During questioning terrorists revealed that 2 Pakistani drones crashed in Amritsar district, parts of drones recovered.Carrying capacity of drone was 5-6 kgs (27.9) pic.twitter.com/5DgDPePfQ1— ANI (@ANI) September 28, 2019

भारत के खिलाफ सभी अंतरराष्ट्रीय मंचों पर साजिश रचने में नाकाम पाकिस्तान को आखिरकार फिर से आतंक का सहारा लेना पड़ रहा है. इससे पहले जर्मनी में बैठे आतंकी गुरमीत सिंह बग्गा और रणजीत नीटा की शह पर पाकिस्तान से पंजाब के तरनतारन में ड्रोन के जरिए झब्बाल इलाके में हथियार गिराए गए थे. इसी सितंबर महीने में ही 4 दिन में 8 बार पंजाब सीमा में ड्रोन से हथियार भेजे गए हैं.

इस मामले को लेकर पंजाब सरकार के कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर रंधावा ने कहा है कि पंजाब में पाकिस्तान हमेशा से ही आतंकवाद फैलाने की कोशिश में है. पड़ोसी देश से ड्रोन के जरिए हथियार भेजे जा रहे हैं. लेकिन राज्य की पुलिस और बीएसएफ के पास ड्रोन को पकड़ने वाला यंत्र नहीं है. उन्होंने बताया कि इसको लेकर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह जल्द ही गृह मंत्रालय से मुलाकात करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *