तेलंगाना / सत्ताधारी टीआरएस में शामिल होंगे कांग्रेस के 12 विधायक, स्पीकर से मुलाकात की

तेलंगाना में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के 12 विधायकों ने गुरुवार को विधानसभा स्पीकर पी श्रीनिवास रेड्डी से मुलाकात कर विधायक दल का सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) में विलय करने की मांग की। दिसंबर में हुए चुनाव में 119 विधानसभा सीटों वाले राज्य में कांग्रेस ने 19 सीटें जीती थीं।

मार्च में ही 11 विधायकों ने टीआरएस में शामिल होने का ऐलान किया था

  1. तेलंगाना कांग्रेस अध्यक्ष उत्तम रेड्डी ने नालगोंडा से लोकसभा चुनाव जीतने के बाद विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। कांग्रेस के 18 विधायक हैं।
  2. तंदूर से कांग्रेस विधायक रोहित रेड्डी ने मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव के बेटे केटी रामा राव से मिलकर सरकार के साथ काम करने की इच्छा जताई। इससे पहले मार्च में ही 11 विधायकों ने टीआरएस में शामिल होने का ऐलान किया था।
  3. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधायक वेंकट रमन रेड्डी ने कहा कि 12 विधायकों ने राज्य के विकास के लिए सरकार के साथ मिलकर काम करने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि विधायकों के प्रतिनिधित्व मंडल ने स्पीकर से मिलकर टीआरएस में विलय की मांग की है।
  4. अफसरों के मुताबिक, अगर कांग्रेस के 12 विधायकों का टीआरएस में शामिल होते हैं, तो यह विधायकों द्वारा दल-बदल कानून का उल्लंघन नहीं होगा। क्यों कि यह संख्या पार्टी के कुल विधायकों (18) का दो तिहाई है।
  5. स्पीकर अगर विधायकों की मांग को मान लेते हैं, तो राज्य में विपक्ष कांग्रेस के पास सिर्फ 6 विधायक बचेंगे। वहीं, एआईएमआईएम के पास 7 और भाजपा के पास एक सीट है।
  6. हम लोकतांत्रिक तरीके से लड़ेंगे- कांग्रेस12 विधायकों के टीआरएस में शामिल होने की खबरों पर तेलंगाना कांग्रेस अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा, ‘हम लोकतांत्रिक तरीके से लड़ेंगे। हम सुबह से विधानसभा अध्यक्ष से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वे गायब हैं। आप उन्हें ढूंढने में हमारी मदद कीजिए।’