त्रिपुरा में मतदान में तेजी, स्थिति शांतिपूर्ण

अगरतला : त्रिपुरा में 60 सदस्यीय विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान शुरू हो गया। प्रदेश में वाम मोर्चा सरकार लगातार पांचवीं बार सत्ता में लौटने का इतिहास रचने की उम्मीद के साथ मैदान हैं । मतदान सुबह सात बजे कड़े सुरक्षा इंतजाम के बीच शुरू हुआ।

सरकारी सूत्रों ने बताया कि मतदान शुरू होने से पूर्व ही मतदाता मतदान केंद्रों पर कतारबद्ध देखे गए । सुदूर इलाकों में आदिवासी लोग , विशेषकर महिलाएं अपनी पारंपरिक और रंगबिरंगी वेशभूषा पहनकर मतदान के लिए आयीं ।

प्रदेश में 11, 64, 656 महिलाओं समेत कुल 23, 52, 505 मतदाता मतदान करेंगे । इस चुनाव में निर्दलीयों के अलावा 16 राजनीतिक दलों के 249 उम्मीदवार मैदान में हैं ।

मैदान में 14 महिलाएं किस्मत आजमाने के लिए उतरी हैं जोकि वर्ष 2008 के विधानसभा चुनाव के मुकाबले चार कम हैं।

मुख्य मुकाबला वैसे तो वाम मोर्चा और कांग्रेस के बीच है । वाम मोर्चा की मुख्य पार्टी माकपा 55 सीटों पर , आरएसपी दो पर , भाकपा दो पर तथा फारवर्ड ब्लाक एक सीट पर चुनाव लड़ रही है ।

कांग्रेस ने 48 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं और उसकी गठबंधन सहयोगी आईएनपीटी ने 11 पर तथा नेशनल कांफ्रेंस आफ त्रिपुरा ने एक सीट पर अपने उम्मीदवार को खड़ा किया है ।

प्रदेश में चुनाव प्रचार में शामिल रहे दिग्गज नेताओं में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, केंद्रीय मंत्री दीपा दासमुंशी, केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम तथा माकपा नेताओं में प्रकाश करात, सीताराम येचुरी, सूर्यकांत मिश्रा और बृंदा करात शामिल हैं। तीन हजार 41 मतदान केंद्रों में से 409 को अत्यंत संवेदनशील, 535 को ज्यादा संवेदनशील और 726 को संवेदनशील घोषित किया गया है ।

राज्य में केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की कुल 250 कंपनियां तैनात की गई हैं । सीमा सुरक्षाबल ने बांग्लादेश से लगती 856 किलोमीटर लंबी सीमा को सील कर दिया है और घुसपैठ रोकने के लिए अतिरिक्त बल तैनात किए हैं ।

चुनाव मैदान में उतरे प्रमुख उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री माणिक सरकार , वित्त मंत्री बादल चौधरी, उच्च शिक्षा मंत्री अनिल सरकार, टीपीसीसी अध्यक्ष सुदीप राय बर्मन, पूर्व मख्यमंत्री समीर रंजन बर्मन तथा इंडीजिनियस नेशनलिस्ट पार्टी आफ त्रिपुरा के बिजय हरंखवाल भी शामिल हैं । (एजेंसी)