दिग्गी का टि्वटर बाण

Tatpar 25/10/13

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने टि्वटर पर दो छंद कविताएं पोस्ट की है। पहले छंद में उन्होंने इशारों-इशारों में मोदी को “बड़बोला” बताते हुए उनके “देवालय से पहले शौचालय” और फिर डौडियाखेड़ा में “खजाने की खुदाई” वाले बयान पर तंज कसा तो दूसरे में बाल-हठ को लेकर अपनी पीड़ा अभिव्यक्त की। 

गौरतलब है कि हाल ही में एक रैली में उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया की बात मानने को बाल-हठ के आगे झुकना कहा था। वे मप्र में सिंधिया को पार्टी का चेहरा बनाए जाने से आहत है।

ये हैं कविता

“बड़बोले” जी फंस गए,
कहकर इसे मजाक
धर्म भीरू जनता हुई,
सुनकर इसे अवाक।
सुनकर इसे अवाक,
समझ में जल्दी आया,
वोट बैंक जो ठोस,
उसे नाराज कराया।
कहें “अखिल” कविराय,
तुरंत ही पलटी खाई,
करत संत सम्मान,
ए दे रहे खूब सफाई।
एक और कविता उन्होंने राज हठ पर ट्वीट की…

जो हठ कोई भी, है बुरी, सोच समझकर मानिए बाल, त्रिया और राज हठ, करती है नुकसान। करती है नुकसान, सदा कहते हैं ग्यानी, आगे करें विचार, आज मानी तो मानी। कहें “अखिल” कविराय, जरूरी है तरूणाई, पर अनुभव के बिना, सफलता किस ने पाई?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *