दिग्विजय बोले- जेल से मुस्लिम ही भागते हैं, हिंदू क्यों नहीं; शिवराज ने कहा- लानत है ऐसे नेताओं पर

भोपाल/नई दिल्ली. भोपाल सेंट्रल जेल से फरार सिमी के आठ आतंकियों के एनकाउंटर पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को कहा, “जेल तोड़कर केवल मुस्लिम ही क्यों भागते हैं, हिंदू क्यों नहीं?” इससे पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ”लोगों को शहीद रमाशंकर सिंह का बलिदान नहीं दिखता। दो शब्द शहीद के लिए भी बोल देते। लानत है ऐसी राजनीति और नेताओं पर।” प्रदेश सरकार का कहना है कि आतंकियों के जेल से भागने की एनआइए जांच करेगी, एनकाउंटर की जांच नहीं कराई जाएगी। शहीद को शिवराज ने दिया कंधा…
– शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को शहीद रमाशंकर यादव के घर पहुंचे। उनकी अर्थी को कंधा दिया।
– बता दें कि सिक्युरिटी गार्ड रमाशंकर भोपाल जेल से फरार सिमी के आतंकियों के हमले में शहीद हो गए थे। रमाशंकर की बेटी की जल्द ही शादी होने वाली है।
– श्रद्धांजलि देने शहीद के घर पहुंचे शिवराज सिंह ने पत्रकारों से कहा, “जेल से भागने वाले दुर्दांत आतंकवादी थे। वे मारे गए। हमें नहीं पता, ये बाहर जाकर कितना आतंक फैलाते। फिर भी उनका बचाव किया जा रहा है। मैं इस तरह की राजनीति की निंदा करता हूं।”
– इसके बाद कांग्रेस के सीनियर लीडर दिग्विजय सिंह का नया बयान आया। उन्होंने कहा, “सिर्फ मुसलमान ही जेल तोड़कर क्यों भागते हैं, हिंदू क्यों नहीं? एनआईए को इस मामले में जरूर जांच करनी चाहिए और कोर्ट को निगरानी करनी चाहिए। साथ ही, इस बात की भी जांच होनी चाहिए कि आखिर क्या दिक्कत है कि सिर्फ मुसलमान ही जेल से भागते हैं।”
जेल से भागे आठ आतंकियों का हुआ था एनकाउंटर
– पुलिस के मुताबिक रविवार तड़के 2-3 बजे भोपाल की सेंट्रल जेल से सिमी के आठ आतंकी एक सिक्युरिटी गार्ड रमाशंकर यादव का कत्ल करके फरार हो गए थे।
– जेल फांदने के लिए आतंकियों ने चादर को जोड़कर रस्सी बनाई थी।
– दोपहर में जेल से करीब 10 किलोमीटर दूर खेजड़ी गांव की पहाड़ी पर उनका एनकाउंटर कर दिया गया था।
शमी की जगह नकवी को बनाया एसटीएफ चीफ
– मंगलवार को मध्य प्रदेश एटीएस चीफ संजीव शमी को हटा दिया गया।
– शमी की जगह पर डॉ. एसडब्ल्यू नकवी को एटीएस चीफ बनाया गया है।
सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो जांच : ओवैसी
– एआईएमआईएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इस मामले की कोर्ट की निगरानी में जांच कराने की मांग की है।
– सोमवार को ओवैसी ने कहा, ”आखिर कैदी जेल से भागे कैसे? उनकी जो फोटोज आई हैं, उनमें वे जूते और जींस पहने हुए दिख रहे हैं। क्या जेल में अंडर ट्रायल कैदी को ऐसे रखा जाता है? सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में इसकी जांच होनी चाहिए।”
आतंकियों के परिवार वाले सीबीआई जांच चाहते हैं
– उधर, एनकाउंटर में मारे गए आतंकियों के परिवार वाले इस घटना की सीबीआई जांच चाहते हैं।
– वे इस मांग को लेकर हाईकोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने इसे बेरहमी से किया गया कत्ल कहा है।
– लॉयर परवेज आलम ने बताया, “मृतकों के परिवार वाले मेरे पास आए। वे रोते हुए न्याय की गुहार लगा रहे थे। हम मध्य प्रदेश हाईकोर्ट से इस मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग करेंगे।”
– उन्होंने कहा, “वीडियो में पुलिस और एटीएस की ओर से ही फायरिंग होती नजर आ रही है। आरोपियों की ओर से फायरिंग के कोई सबूत नहीं हैं। यह फर्जी एनकाउंटर है।”