दिल्ली एयरपोर्ट पर हंगामा: एअर इंडिया ने बदली पायलटों की ड्यूटी, सांसद धरने पर

भोपाल. एक फ्लाइट के पायलट को दूसरी में शिफ्ट करने से एअर इंडिया के तीन सौ से ज्यादा पैसेंजर भोपाल समेत चार एयरपोर्टों पर पूरी रात परेशान होते रहे। एमपी के मिनिस्टर सरताज सिंह की वजह से भोपाल की फ्लाइट को प्रेफरेंस मिलने का आरोप लगाते हुए बीजेडी सांसद तथागत सत्पथी दिल्ली एयरपोर्ट में जमीन पर ही धरने पर बैठ गए।
एअर इंडिया बदलता रहा अपने पायलटों की ड्यूटी और ऐसे परेशान हुए लोग…
– दरअसल, दिल्ली से भोपाल आने वाली फ्लाइट के पायलट की ड्यूटी खत्म हो गई थी।
– एअर इंडिया ने दिल्ली-भुवनेश्वर की फ्लाइट के पायलट से कहा कि वह भोपाल की फ्लाइट लेकर जाए।
– वहीं, भुवनेश्वर की फ्लाइट के लिए बेंगलुरु जा रहे प्लेन के पायलट की ड्यूटी लगाई गई।
– इससे दिल्ली, भुवनेश्वर, भोपाल और बेंगलुरु के पैसेंजर परेशान हुए।
दिल्ली से भोपाल आ रही फ्लाइट के साथ क्या हुआ, कितने वीवीआईपी को करना पड़ा इंतजार…
– दिल्ली से फ्लाइट नंबर एआई-437 रात 8.55 पर भोपाल आती है और साढ़े नौ बजे लौटती है।
– इस फ्लाइट के पैसेंजरों में दो जज और एमपी के मंत्री सरताज सिंह भी थे।
– इसके ज्यादा लेट होते देख कुछ पैसेंजरों ने एअर इंडिया के सीएमडी अश्विनी लोहानी से कॉन्टैक्ट किया।
– इस बीच, भोपाल एयरपोर्ट पर रात सवा दस बजे वापसी की फ्लाइट कैंसल करने की इन्फॉर्मेशन दी गई।
– बाद में एअर इंडिया मैनेजमेंट ने भोपाल की फ्लाइट के लिए भुवनेश्वर की फ्लाइट का पायलट अरेंज किया।
– बोर्डिंग शुरू करने का एलान किया गया। इसके बावजूद रात ढाई बजे तक फ्लाइट को लेकर कुछ भी साफ नहीं था।
सांसद क्या बोले?
– उधर, दिल्ली-भुवनेश्वर फ्लाइट के पायलट की ड्यूटी भोपाल के लिए लगाए जाने पर ओडिशा जा रहे पैसेंजर नाराज हो गए।
– इस फ्लाइट के पैसेंजरों में बीजेडी सांसद सत्पथी और पत्रकार राजदीप सरदेसाई शामिल थे।
– रात सवा बजे तक दिल्ली एयरपोर्ट पर हंगामे के हालात थे।
– सत्पथी को जब पायलट की ड्यूटी चेंज होने का पता चला तो उन्होंने इसका विरोध किया। वे धरने पर बैठ गए।
– वे भारी गुस्से में कह रहे थे कि भोपाल की फ्लाइट किसी हालत में नहीं जाने दूंगा।
– उन्होंने कहा, ”भोपाल जाने वाली फ्लाइट में दो जज और एक मंत्री बैठे हैं। इस वजह से भुवनेश्वर की फ्लाइट के पायलट की ड्यूटी बदल दी गई। आखिर यह चल क्या रहा है?”
– बाद में उन्होंने एएनआई से कहा, ”दिल्ली-भुवनेश्वर की एअर इंडिया की फ्लाइट को शाम 6.20 बजे टेक ऑफ करना था। लेकिन वे उसे देर करते रहे।”
– ”जब हमारा प्लेन तैयार था तो हमें कहा गया कि भोपाल की फ्लाइट के बाद हमारी बोर्डिंग शुरू होगी। हमारी फ्लाइट के क्रू को भोपाल की फ्लाइट में भेज दिया गया, क्योंकि उसके पैसेंजरों में एमपी के मिनिस्टर सरताज सिंह बैठे थे।”
दिल्ली एयरपोर्ट से जर्नलिस्ट राजदीप सरदेसाई के ट्वीट्स
आधी रात का वक्त है। तथागत सत्पथी एयरपोर्ट के गेट पर धरने पर बैठ गए हैं…
– सिर्फ एअर इंडिया ही बोर्डिंग शुरू करने के बाद 4 घंटे 15 मिनट तक किसी फ्लाइट को डिले कर सकता है।
– एअर इंडिया ने तकनीकी दिक्कत बताकर भोपाल जा रही फ्लाइट को कैंसल करने का एलान किया। असली वजह यह है कि पायलट की ड्यूटी खत्म हो चुकी थी।
– दो जज भोपाल की फ्लाइट में हैं। इसलिए एअर इंडिया ने दूसरे क्रू को वह प्लेन उड़ाने के लिए भेजा। गुड लक! ओनली इन इंडिया!
– एयर इंडिया ने इतिहास रच दिया है। पायलटों से सिर्फ इसलिए भुवनेश्वर की फ्लाइट से भोपाल की फ्लाइट उड़ाने को कहा गया, क्योंकि एमडी को जजों ने फोन कर दिया था।
– जेआरटी टाटा होते तो यह देखकर जरूर चौंक जाते कि उनकी विरासत के साथ क्या हो रहा है।
– एअर इंडिया के एमडी लोहानी कहां हैं? क्या उन्होंने ही फोन कर भोपाल की फ्लाइट भेजने को कहा। पायलटों को शिफ्ट किया। यह वीआईपी प्रिविलेज का मिसयूज है। क्या उन्हें एमडी बने रहना चाहिए?
– भुवनेश्वर की फ्लाइट में जा रहे पैसेंजरों ने कहा कि अगर जज वीवीआईपी स्टेटस का मिसयूज कर रहे हैं, तो वे भोपाल की फ्लाइट काे नहीं उड़ने देंगे।
– उन भारतीयों पर गर्व है जिन्होंने जजों और मंत्री से वीआईपी प्रिविलेज का मिसयूज करने पर फ्लाइट छोड़ने को कहा। देश बदलेगा!
– रात के एक बज चुके हैं। न तो भोपाल की फ्लाइट गई और ना ही भुवनेश्वर की। सांसद का धरना जारी है। यह नेशनल कैरियर है।