दिल्ली के शाहीन बाग से प्रदर्शनकारियों को हटान की कवायद दिल्ली पुलिस ने शुरू कर दी है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस ये कदम उठा रही है. इसको लेकर प्रदर्शनकारियों से बातचीत की जा रही है. नागरिकता संशोधन कानून को लेकर यहां करीब एक महीने से प्रदर्शन जारी है. इसके चलते शाहीन बाग-कालिंदी कुंज सड़क भी एक महीने से बंद है.

बता दें कि आज इसको लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई हुई. कोर्ट में एक याचिका दायर की गई थी. याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने ये मामला दिल्ली पुलिस पर छोड़ दिया. हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से कहा कि जनहित को ध्यान में रखते हुए कार्रवाई करे. वकील और सामाजिक कार्यकर्ता अमित साहनी ने जनहित याचिका दाखिल की थी.

कोर्ट ने सभी पक्षों से कहा कि सभी संबंधित विभाग इस मुद्दे को देखें और कानून के हिसाब से काम करें. कानून व्यवस्था का भी ध्यान रखा जाए. इससे पहले याचिकाकर्ता ने कहा कि सरकार और पुलिस को भी इस मामले में शिकायत दी हुई है और कुछ नहीं हुआ. दायर याचिका में कहा गया था कि 15 दिसंबर के बाद से ही मथुरा रोड से कालिंदी कुंज की तरफ जाने वाली सड़क प्रदर्शनकारियों ने बंद कर रखी है, जिसकी वजह से लोगों को रोजाना परेशानी का सामना करना पड़ता है.

शाहीन बाग प्रदर्शन में ज्यादातर महिलाएं हैं, जो अपने बच्चों के साथ रात-रात भर इस प्रदर्शन में शामिल रहती हैं. प्रदर्शन की वजह से दिल्ली और नोएडा को जोड़ने वाला रास्ता कालिंदी कुंज से होकर गुजरता है. इस रोड पर कई दुकानें और शोरूम हैं. इस रोड के बंद होने से दूसरी सड़कों पर जाम लगा रहता है. इसका असर डीएनडी पर देखने को मिल रहा है. लोगों को ज्यादा सफर करना पड़ रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *